इस्लामाबाद: पाकिस्तानी सेना ने रविवार को दावा किया कि ‘भारतीय सेना द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन’ कर की गई गोलीबारी में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर उसके एक सैनिक समेत चार लोगों की मौत हो गई. पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन ने यह दावा सूत्रों के उस बयान के बाद किया है जिसके अनुसार, भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन कर की गई गोलीबारी का जवाब देते हुए रविवार को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में चार आतंकी लॉन्च पैड नष्ट कर और कम से कम चार पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया है. पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में जम्मू एवं कश्मीर में एक नागरिक और दो सैनिकों की मौत हो गई है.

भारतीय सेना की आर्टिलरी गन से की गई गोलीबारी में पाकिस्तानी सैन्य चौकियां भी ध्वस्त हुई हैं. सूत्रों के अनुसार, जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर तंगधार सेक्टर के विपरीत में स्थित नीलम घाटी में चार आतंकी लॉन्च पैड्स नष्ट हो गए. आर्टिलरी गन हमले में पांच पाकिस्तानी सैनिकों की मौत के अलावा भी वहां बहुत नुकसान हुआ है.

इसके बाद आईएसपीआर के महानिदेशक (डीजी) मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया, “भारत ने जूरा, शाहकोट और नौसेहरी में नागरिकों को निशाना बनाते हुए गोलीबारी की. प्रभावी तरीके से जवाबी कार्रवाई..दोनों तरफ से गोलीबारी में एक सैनिक और तीन नागरिक शहीद और दो सैनिक, पांच नागरिक घायल हो गए हैं.”


उन्होंने कहा कि भारतीय सेना द्वारा निर्दोष नागरिकों को निशाना बनाना कथित शिविरों पर निशाना बनाने के उनके झूठे दावे को सही ठहराने की कोशिश है. गफूर ने कहा, “भारतीय सेना को हमेशा करारा जवाब दिया जाता है. पाकिस्तानी सेना एलओसी पर निर्दोष नागरिकों का बचाव करेगी और भारतीय सेना को असहनीय दर्द देगी.” डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, जानमाल के नुकसान की पुष्टि करते हुए पीओके मंत्री रजा फारूक हैदर ने कहा कि भारतीय सेना बौखला गई है.

(इनपुट आईएएनएस)