कराची: सोमवार को मीडिया में आई एक खबर के अनुसार एक ऐसे व्यक्ति के तीन बैंक खातों के माध्यम से 460 करोड़ रुपये का लेन-देन होने की बात सामने आई है जो अपने नाम पर इन रहस्यमय खातों के खुलने से कई महीने पहले ही मर चुका था. Also Read - जम्मू-कश्मीर: LOC पर भारी गोलीबारी, पाकिस्तान ने बिना किसी उकसावे के फायरिंग की

Also Read - Pakistan Coronavirus latest Update: पाकिस्तान में कोरोनावायरस के 3,387 नए मामले सामने आए, संक्रमितों की संख्या 2 लाख 25 हजार से अधिक

जियो टीवी की खबर के मुताबिक कराची निवासी इकबाल आराइन का निधन नौ मई 2014 को हुआ था और उसकी मौत के बाद उसके नाम पर रहस्यमय ढंग से तीन बैंक खाते खोले गए. चैनल ने अपने सूत्रों के हवाले से कहा कि इन खातों से 460 करोड़ रुपये का लेन-देन हुआ है. Also Read - विराट कोहली ने शुरू किया वर्कआउट; खोला अपनी फिटनेस का राज

देशभर में कई व्यक्तियों के बैंक खातों में रहस्यमय तरीके से पैसे जमा होने के हाल के मामलों में यह सबसे नया है. देश की संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) ऐसे कई खातों की जांच कर रही है जिनका इस्तेमाल कुछ प्रभावशाली कारोबारियों एवं राजनेताओं द्वारा धनशोधन के लिए किया जा रहा है.

प्रिंस हैरी और मेगन अगले साल बनेंगे माता-पिता, रॉयल फैमिली में ख़ुशी

एजेंसी को हाल ही में पता चला था कि शहर के एक ऑटोरिक्शा चालक के बैंक खाते में करीब 300 करोड़ रुपये का लेन-देन हुआ है. चालक मुहम्मद राशिद को इस बड़े लेन-देन के बारे में तब पता चला जब एफआईए ने उसे स्पष्टीकरण के लिए समन भेजा था.

भारी बारिश के बाद फ्रांस में अचानक आई बाढ़ से 6 मरे, राहत कार्य जारी

धन शोधन मामलों की जांच के लिए पाकिस्‍तान की सुप्रीम कोर्ट द्वारा संयुक्त जांच इकाई (जेआईटी) की नियुक्ति के बाद एफआईए बड़े पैमाने पर हो रहे धन शोधन के मामलों की जांच कर रही है. कई मामलों में बड़े लेन-देन के लिए कुछ बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से गरीब लोगों के निष्क्रिय खातों को चालू कर देने की बात सामने आई है.