ट्यूनिस: ट्यूनीशिया के पूर्वी तट पर नौका पलटने से शनिवार रात 48 लोगों की मौत हो गई. बीबीसी के मुताबिक, तटरक्षक बलों ने 67 लोगों को सकुशल बचा लिया. यूरोप जाने के लिए शरणार्थियों के लिए यह बीते साल से नया मार्ग बन गया है. वहीं, देश के गृह मंत्रालय का कहना है कि इस नौका में लगभग 180 लोग सवार थे, जिसमें से लगभग 100 ट्यूनीशिया के थे.

गृह मंत्रालय ने कहा कि शनिवार की रात 10 बजकर 45 मिनट पर डूबती हुई एक नौका से उसके परेशानी में होने का संकेत मिला जिसमें शरणार्थी सवार थे . गृह मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, ”एक सैन्य विमान की मदद से तटरक्षक और नौसेना द्वारा लगातार तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.”

क्षमता से अधिक लोग सवार थे
मंत्रालय के मुताबिक, यह नौका केकनाह द्वीपों से पांच मील दूर थे, जबकि सफाक्स शहर से 16 समुद्री मील दूर थी. एक पीड़ित का कहना है कि नौका का डूबना शुरू होते ही कैप्टन ने नौका छोड़ दी. एक अन्य पीड़ित का कहना है कि नौका में अधिकतम 90 लोगों के बैठने की क्षमता थी, लेकिन इससे अधिक लोग उसमें सवार थे. नौका में लगभग 180 लोग सवार थे.

शरणार्थियों के शव मिले
ट्यूनीशिया के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि देश के दक्षिणी अपतटीय क्षेत्र में 35 शरणार्थियों के शव मिले हैं. मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि स्थानीय समयानुसार दोपहर एक बजे तक 35 शव बरामद किए गए और 68 आव्रजकों को बचा लिया गया. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि बचाए गए लोगों में ट्यूनीशियाई तथा आइवरी कोस्ट, माली, मोरक्को और कैमरून के नागरिकों सहित सात विदेशी भी शामिल हैं. (इनपुट- एजेंसी)