काठमांडो:  नेपाल में 7 लोगों को लेकर जा रहा हेलीकॉप्टर शनिवार को घने जंगल में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हादसे में एक विदेशी समेत 6 यात्रियों की मौत हो गई. इस हादसे में एक महिला यात्री करिश्माई रूप से बच गई. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एल्टीट्यूड एयर का हेलीकॉप्टर सुबह से लापता था और निकटवर्ती धाडिंग और नुवाकोट जिलों से लगने वाले जंगल के इलाके में इसने क्रैश लैंडिंग की.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एल्टीट्यूड एयर का हेलिकॉप्टर सुबह से लापता था और निकटवर्ती धाडिंग और नुवाकोट जिलों से लगने वाले जंगल के इलाके में इसने क्रैश लैंडिंग की. त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के एक सूत्र ने कहा हेलिकॉप्टर गोरखा के समागांव से एक मरीज और अन्य यात्रियों को लेकर काठमांडो के लिए उड़ा था. करीब 32 किलोमीटर की उड़ान के बाद स्थानीय समयानुसार सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर काठमांडो टावर से उसका संपर्क टूट गया.   हेलिकॉप्टर में एक जापानी पर्वतारोही समेत 6 यात्री सवार थे. इसमें एक ही व्यक्ति जिंदा बच सका.

शनिवार को नुवाकोट जिले के सुरचेत में 7 लोगों को लेकर उड़ रहा चौपर ऊंची चोटी के ऊपर दुर्घटनाग्रस्त होकर घने जंगल में गिर गया. इसमें पायलट सहित 6 लोगों की मौत हो गई, एक महिला यात्री बचाया गया. हेलिकॉप्टर को गोरखा को एक मरीज को काठमांडू में ले जाने के लिए भेजा गया था.

हिमालयन टाइम्स की खबर के मुताबिक एल्टीट्यूड एयर प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक नीमा नुरू शेरपा ने कहा कि स्थानीय लोगों ने नुवाकोट जिले के सुदूरवर्ती इलाके में हेलिकॉप्टर का मलबा देखा है. इस हेलीकॉप्टर के पायलट वरिष्ठ कैप्टन निश्छल के.सी. थे. उनके अलावा हेलिकॉप्टर में एक जापानी पर्वतारोही समेत 6 यात्री सवार थे. बताया जा रहा है कि इसमें एक महिला जिंदा बच सकी है.

पोर्ट में शेरपा के हवाले से कहा गया कि राहतकर्मियों ने छह शव बरामद किए हैं. इसमें कहा गया कि मृतकों में वरिष्ठ कैप्टन निश्छल केसी भी शामिल हैं. हादसे में मारे गए मृतक की पहचान 68 वर्षीय हीरोमी कोमात्सू के तौर पर की गई है. खबर में कहा गया कि जिस महिला को जीवित बचाया गया उसके शरीर पर चोट के निशान हैं. त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्टके एक सूत्र ने कहा हेलिकॉप्टर गोरखा के समागांव से एक मरीज और अन्य यात्रियों को लेकर काठमांडो के लिए उड़ा था. शेरपा ने कहा, बचावकर्मी घटनास्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने यह भी बताया कि दुर्घटनाग्रस्त हेलिकॉप्टर में आग नहीं लगी है.  खराब मौसम और दुर्गम इलाके की वजह से बचाव कार्य में मुश्किलें आ रही हैं. नेपाली सेना का एक हेलिकॉप्टर और एक निजी हेलिकॉप्टर को दुर्घटनास्थल पर राहत कार्य के लिए भेजा गया है.