नियामे (नाइजर): पश्चिमी नाइजर में संदिग्ध आतंकवादियों ने एक सैन्य चौकी पर हमला कर दिया जिसमें कम से कम 70 सैनिकों की मौत हो गई. राष्ट्रपति के एक सलाहकार ने यह जानकारी दी. इस पश्चिमी अफ्रीकी देश के हालिया इतिहास में सुरक्षा बलों पर यह सबसे भयानक हमला है.

हिंसा की यह घटना फ्रांस में होने वाले एक सम्मेलन से महज कुछ दिन पहले हुई है. इस सम्मेलन में फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों के पश्चिमी अफ्रीकी नेताओं से साहेल क्षेत्र में फ्रांस की सेना की भूमिका पर चर्चा करने की संभावना है. राष्ट्रपति मोहम्मदू इसूफू के ट्विटर अकाउंट से बुधवार देर रात किए गए एक ट्वीट में बताया गया है कि वह नाइजर की माली के साथ लगती सीमा पर हुए इस हमले के बाद मिस्र की अपनी यात्रा को बीच में खत्म करके स्वदेश लौट रहे हैं.

नाइजर की सेना ने अभी मृतकों की संख्या जारी नहीं की है लेकिन नाम न जाहिर करने की शर्त पर सलाहकार ने इस अस्थायी संख्या की पुष्टि की है. सलाहकार ने बताया कि यह भीषण हमला नाइजर के दूरदराज इलाके में हुआ. यहां आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़े जिहादी सक्रिय है.