कराची: पाकिस्तान में शुक्रवार को हुए विमान हादसे में कम से कम 82 लोगों के मारे जाने की आशंका है. गौरतलब है कि पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का एक यात्री विमान शुक्रवार को यहां जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पास घनी आबादी वाले रिहाइशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. Also Read - जासूसी में दो अफसरों के निष्‍कासन से तिलमिलाए पाक ने भारतीय राजनयिक को तलब किया

सरकार ने कोविड-19 के कारण लगाई हवाई यात्रा पर पाबंदियों को करीब एक हफ्ते पहले ही हटाया था. अधिकारियों ने बताया कि विमान लाहौर से आ रहा था और कराची उतरने ही वाला था कि एक मिनट पहले मालिर में मॉडल कॉलोनी के निकट जिन्ना गार्डन में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. Also Read - गृह मंत्री अमित शाह ने दिखाए सख्त तेवर, बोले- भारत अपनी सीमाओं पर किसी भी तरह का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं करेगा

राष्ट्रीय विमानन कंपनी के एक प्रवक्ता ने बताया कि पीआईए एयरबस ए320 में 91 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे. विमान हवाईअड्डे के निकट जिन्ना आवासीय सोसाइटी में दुर्घटनाग्रस्त हुआ. मॉडल कालोनी इलाके में दुर्घटनास्थल से धुएं का काला गुबार उठते देखा गया. Also Read - दिल्ली में जासूसी करते पकड़े गए पाक उच्चायोग के दो अधिकारी, भारत ने कहा- 24 घंटे में देश छोड़ दो

सिंध की स्वास्थ्य मंत्री अजरा पेचुहो ने शुक्रवार देर रात मीडिया केा बताया कि अभी तक दुर्घटनास्थल से 82 शव बरामद किए गए हैं. हालांकि, यह अभी स्पष्ट नहीं है कि सभी मृतक विमान में सवार यात्री थे या उस इलाके के निवासी भी शामिल हैं जहां यह हादसा हुआ. उन्होंने बताया कि हादसे में दो लोग बचे हैं जिनमें बैंक ऑफ पंजाब के अध्यक्ष जफर मसूद भी शामिल हैं और उन्होंने अपनी मां को फोन कर अपने कुशल होने की जानकारी दी.

पेचुहो ने कहा, ‘‘हमें अभी मालूम नहीं है कि असल में कितने लोग घायल हुए हैं क्योंकि कोविड-19 के कारण हम पहले ही आपात स्थिति का सामना कर रहे हैं.’’ ईधी कल्याण ट्रस्ट के फैजल ईधी ने ऐसे 25-30 निवासियों को भी अस्पताल ले जाया गया है जिनके घरों को इस विमान हादसे में नुकसान पहुंचा है. उनमें से अधिकतर झुलस गए थे.

क्रैश लैंडिंग के दौरान विमान के पंख आवासीय कॉलोनी के घरों से टकराते गए और इसके बाद विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. ईधी ने कहा, “इस हादसे में कम से कम 25 मकानों को नुकसान पहुंचा है.” मंत्री ने कहा, “पहली प्राथमिकता लोगों को बचाने की है. मुख्य बाधा संकरी गलियां और आम लोगों की भारी मौजदगी थी जो वहां दुर्घटना के बाद इकट्ठा हो गए थे. उन्हें हटा दिया गया है.”

पीआईए के अधिकारियों के मुताबिक, कैप्टन ने हवाई यातायात टावर को सूचित किया कि उसे विमान के लैंडिंग गियर में कुछ गड़बड़ी लग रही है और इसके बाद विमान रडार से गायब हो गया. दुर्घटना के कारण की पुष्टि होना अभी बाकी है. पीआईए के मुख्य कार्यकारी एयर वाइस मार्शल अरशद मलिक ने कहा कि पायलट ने यातायात नियंत्रक को बताया था कि वह कुछ “तकनीकी मुश्किलों” का अनुभव कर रहा है.

इस बीच राष्ट्रपति आरिफ अलवी ने विमान हादसे में लोगों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री इमरान खान ने विमान हादसे में लोगों की जान जाने पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए इस मामले में तत्काल जांच के आदेश दिये हैं. पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने हादसे में लोगों की जान जाने पर अफसोस जताते हुए सेना को राहत व बचाव कार्य में नागरिक प्रशासन की हरसंभव मदद का निर्देश दिया.