न्यूयॉर्क: अमेरिका में 9/11 आतंकी हमले की बरसी पर बुधवार को पीड़ितों के संबंधियों के पहुंचने की उम्मीद है जबकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पेंटागन में इन्हीं हमलों की बरसी से जुड़े एक आयोजन में शामिल होंगे. उप राष्ट्रपति माइक पेंस पेनसिल्वेनिया के शांक्सविले के नजदीक उस स्थान पर सभा को संबोधित करेंगे जहां पर तीसरा हमला हुआ था.Also Read - राष्ट्रपति एर्दोआन ने अमेरिका, फ्रांस समेत 10 देशों के राजदूतों को निकाला, जानिए क्या है तुर्की के खुन्नस की वजह?

वर्ष 2001 में हुए उस हमले के वक्त पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश तीनों सेनाओं के प्रमुख थे. दोपहर के वक्त पेंटागन में होने वाले एक आयोजन में वह शामिल होंगे. अमेरिकी धरती पर हुए भयावह आतंकी हमले के 18 वर्ष बाद राष्ट्र अभी भी उससे उबर नहीं पाया है. इसका असर अभी भी जहां-तहां नजर आ जाता है. हवाईअड्डे से लेकर अफगानिस्तान में सुरक्षा जांच नाकों तक उन हमलों की स्पष्ट छाप है. अफगानिस्तान में हमलों की बरसी पर अमेरिकी दूतावास के निकट एक रॉकेट फटने की खबर है. Also Read - China-Taiwan conflict: बन रहे युद्ध जैसे हालात, अब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कह दी ये बड़ी बात

9/11 की 18वीं बरसी आज, अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास पर हमला Also Read - US की चिंता के बीच चीन बोला- हाइपरसोनिक मिसाइल नहीं, बल्कि अंतरिक्ष यान का परीक्षण किया था

9/11 आतंकी हमले में मारे गए थे तीन हजार लोग
ट्रेड सेंटर, पेंटागन और शांक्सविले के नजदीक एक मैदान समेत तीन स्थानों पर अपहृत विमानों से आतंकी हमले हुए थे. उन हमलों में लगभग 3,000 लोग मारे गए थे. ग्राउंड जीरो पर हर साल होने वाले बरसी कार्यक्रम में हमलों के शिकार हुए सभी पीड़ितों के नाम पढ़े जाते हैं, कुछ पलों का मौन रखा जाता है और उस वक्त घंटियां बजायी जाती हैं जब विमान ट्रेड सेंटर से टकराए थे और ट्विन टॉवर जमींदोज हो गए थे.