Asif_Ali_Zardari_-_2009 Also Read - Desert Knight 21: आसमान में पहली बार गरजे राफेल, भारत-फ्रांस की एयरफोर्स ने किया युद्धाभ्यास

Also Read - चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा- वित्तीय आंकड़ों का जानें क्या है गणित...

इस्लामाबाद 21 मई: पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को गुरुवार को गैरकानूनी संपत्ति संबंधी मामले में अदालत के समक्ष पेश होने पर स्थाई छूट मिल गई है। वेबसाइट ‘डॉन ऑनलाइन’ के मुताबिक, खराब स्वास्थ्य और सुरक्षा की कमी का हवाला देते हुए पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सहअध्यक्ष जरदारी पहले दो बार केस की सुनवाई के लिए अदालत पहुंचने में असफल रहे हैं। जरदारी और पाकिस्तान की पूर्व दिवंगत प्रधानमंत्री और उनकी पत्नी बेनजीर भुट्टो पर गैरकानूनी तरीके से संपत्तियों का अधिग्रहण करने का आरोप है। यह भी पढ़े:कराची बस हमला : जांच में बड़ी सफलता मिलने का दावा Also Read - पाकिस्तान ने इस देश के कोरोना टीके को दी मंजूरी, दिया 11 लाख खुराक का ऑर्डर

रावलपिंडी जवाबदेही न्यायालय के न्यायाधीश खालिद रांझा ने जरदारी के वकील फारुख एच.नाइक द्वारा दायर याचिका पर फैसला सुनाते हुए जरदारी को अदालत के समक्ष पेश होने से छूट दे दी। इस मामले की अगली सुनवाई दो जून को होनी है। जरदारी के वकील के मुताबिक, पूर्व राष्ट्रपति और उनके वकीलों के लिए अदालत परिसर असुरक्षित है। उन्होंने कहा कि अदालत में दाखिल होने के लिए आठ से नौ गेट हैं।