काबुल: अफगानिस्तान छोड़ने के बाद राष्ट्रपति अशरफ गनी संयक्त अरब अमीरात में हैं. संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने कहा कि उसने अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी और उनके परिवार को ‘‘मानवीय आधार’’ पर स्वीकार कर लिया है.Also Read - SCO समिट: PM मोदी ने बढ़ती कट्टरपंथी विचारधारा को लेकर चेताया, अफगानिस्तान का उदाहरण दिया

तालिबान के काबुल के नजदीक पहुंचने से पहले ही गनी देश छोड़ कर चले गए थे. यूएई की सरकारी समाचार समिति ‘डब्ल्यूएएम’ ने अपनी एक खबर में यह जानकारी दी. हालांकि उसने यह नहीं बताया कि गनी देश में कहां हैं. इसमें देश के विदेश मंत्रालय के एक लाइन वाले बयान को उद्धत किया गया है. Also Read - काबुल में भारतीय के अपहरण की खबर, भारत ने कहा- सभी संबंधित पक्षों के साथ सम्पर्क में हैं

बता दें कि तालिबान के काबुल में घुसने के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने देश छोड़ दिया था. वह एक हेलिकोप्टर से 15 अगस्त को काबुल से निकल गए थे. वह यूएई पहुँच गए. गनी इस हेलिकोप्टर में काफी कैश लेकर गए थे. नोटों से भरे इतने ज्यादा बैग थे कि हेलिकोप्टर में आ ही नहीं पाए. और रनवे पर ही छोड़ना पड़ा. बताया जा रहा है कि वह 16 करोड़ डॉलर से अधिक रुपए लेकर गए थे. अफगानिस्तान छोड़ने के फैसले को लेकर अशरफ गनी की काफी आलोचना हुई थी. अब अफगानिस्तान में तालिबान शासन आने की पूरी सम्भावना है. इससे अफरातफरी मची हुई है. Also Read - तालिबान के सह-संस्थापक मुल्ला बरादर को TIME मैगजिन में मिला स्थान, बताया- करिश्माई नेता