लाहौर: पाकिस्तान ने शनिवार को संकेत दिया कि भारतीय हवाई क्षेत्र में सभी हवाई मार्गों पर लगी अस्थाई पाबंदियों को हटाने के भारत के फैसले के अनुरूप पाकिस्तान भी भारत के साथ लगी अपनी पूर्वी सीमा पर हवाई क्षेत्र पर लगे प्रतिबंध को हटा सकता है.

 

भारतीय वायु सेना ने शुक्रवार को ट्विटर पर ऐलान किया कि भारतीय वायु सेना द्वारा 27 फरवरी 19 को भारतीय हवाई क्षेत्र में सभी हवाई मार्गों पर लगाई गयी अस्थाई पाबंदियों को हटा लिया गया है. भारत के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि भारत सरकार पाकिस्तान की उड़ानों पर लगी हवाई पाबंदियां हटा लेगी तो पाकिस्तान भी हवाई पाबंदियों को हटा सकता है. अधिकारी ने पीटीआई से कहा कि भारत ने अभी तक पाकिस्तान को उसकी उड़ानों के लिए हवाई क्षेत्र की पाबंदी हटाने की सूचना नहीं दी है.

उन्होंने कहा कि हमें मीडिया से ही इसकी जानकारी मिली है. इस संबंध में अभी तक कोई संदेश नहीं आया है. अगर भारत हमारी उड़ानों पर हवाई प्रतिबंधों को हटा लेता है तो हम भी यह कदम उठा सकते हैं. बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविर पर हमले के बाद इस तरह की पाबंदियां लगाई गयी थीं. पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र बंद होने से कई मार्गों पर हवाई किराया काफी अधिक हो गया. इनमें दिल्ली-काबुल, दिल्ली-मास्को, दिल्ली-तेहरान और दिल्ली-अस्ताना मार्ग शामिल हैं.

हजारों यात्रियों को पाकिस्तान के फैसले की वजह से टिकट के बढ़ते दामों और देरी के चलते उड़ानों के रद्दे होने से परेशानियां उठानी पड़ीं. पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र बंद होने से भारतीय विमानन कंपनियों- एयर इंडिया और स्पाइसजेट ने अपनी दिल्ली-काबुल की उड़ान को बंद कर दिया था.