वॉशिंगटन: कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए सर्वाधिक 4.2 करोड़ नमूनों की जांच अमेरिका ने की है, इसके बाद सर्वाधिक 1.2 करोड़ नमूनों की जांच भारत में हुई है. व्हाइट हाउस ने गुरुवार को यह जानकारी दी. अमेरिका में 35 लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए और संक्रमण से 1,38,000 लोगों की मौत हो चुकी है. विश्वभर में संक्रमण के 13.6 करोड़ से ज्यादा मामले सामने आए और 5,86,000 रोगियों की मौत हो चुकी है. Also Read - WAR के गाने पर डॉक्टर ने पीपीई किट पहने किया जबरदस्त डांस, ऋतिक बोले- ये स्टेप्स तो...

यूएस में 4.2 करोड़ से अधिक सैम्‍पल की जांच, भारत में 1.2 करोड़ टेस्‍ट
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनेनी ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया, ”कोरोना वायरस की जांच के संबंध में, हमने 4.2 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की है. इसके बाद सर्वाधिक 1.2 करोड़ नमूनों की जांच भारत में हुई है. जांच के मामले में हम पूरे विश्व में सबसे आगे चल रहे हैं.” उन्होंने कहा कि रिकॉर्ड जांच करने का ट्रंप प्रशासन का कदम पूर्ववर्ती प्रशासन द्वारा उठाए कदमों के ठीक विपरीत है. Also Read - School Reopen: महामारी के कारण बदल गए हैं हमारे स्कूल, इन राज्यों में क्लास करने पहुंचे छात्रों की देखें तस्वीर

टीके के संबंध में भी अच्छी खबर मिल रही
मैकनेनी ने बताया कि सीबीएस टीवी के मुताबिक 2009 में ओबामा-बाइडेन प्रशासन नीत रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र ने राज्यों से एच1एन1 फ्लू की जांच बंद करने को और हर एक मामले को गिनना बंद करने को कहा था. मैकनेनी ने बताया कि टीके के संबंध में भी अच्छी खबर मिल रही है. Also Read - School Reopen: इन राज्यों में पहले दिन कुछ ऐसा रहा स्कूलों का नजारा, मास्क-सैनिटाइजर संग स्कूल पहुंचे छात्र

जुलाई के अंत तक इस टीके का तीसरे चरण का परीक्षण
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव ने बताया, ”मॉडर्ना द्वारा जिस टीके का परीक्षण किया जा रहा है, उसके शोध में शामिल 45 लोगों पर अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं. जुलाई के अंत तक इस टीके का तीसरे चरण का परीक्षण होने की उम्मीद है जिसमें 30,000 लोगों को शामिल किया जाएगा.” मैकनेनी ने बताया कि कोविड-19 की उपचार पद्धति के संबंध में भी उत्साहजनक जानकारी मिली है.