Alibaba Founder Jack Ma Missing: एशिया की सबसे अमीर शख्सियतों में से एक अलीबाबा ग्रुप के मालिक जैक मा इस समय कहां है, इसे लेकर रहस्य गहराता जा रहा है. मिली रिपोर्ट्स के अनुसार, पिछले दो महीनों से वे किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में नहीं देखे गए हैं. दरअसल, जैक मा ने पिछले साल अक्टूबर महीने में किसी मुद्दे पर चीनी सरकार की आलोचना की थी और इसके बाद से ही जैक मा की कहीं कोई सार्वजनिक उपस्थिति दर्ज नहीं हुई है. Also Read - दुनिया के सामने आए Jack Ma, 2 महीने से थे लापता, बोले- महामारी खत्म होने के बाद फिर मिलेंगे

जैक के गायब होने का गहराता जा रहा रहस्य Also Read - क्या चीन की जेल में बंद हैं Jack Maa? नवंबर महीने से हैं लापता

द टेलिग्राफ में छपी खबर के अनुसार, जैक मा के बारे में रहस्य तब और बढ़ गया, जब वे अपने टैलेंट शो (Africa’s Business Heroes) के फाइनल एपिसोड में भी नहीं दिखाई दिए थे. जैक मा की जगह इस एपिसोड में अलीबाबा के एक अधिकारी ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी थी. अलीबाबा के प्रवक्ता के अनुसार, मा अपने व्यस्त कार्यक्रम के चलते इस एपिसोड में भाग नहीं ले पाए थे. हालांकि, कार्यक्रम की वेबसाइट से मा की तस्वीर हटने के बाद रहस्य और गहरा गया है. Also Read - Tata group to by stake in online grocery business: ऑनलाइन किराने का सामान बेचेगा टाटा समूह, बिगबास्केट में खरीदेगा 80 फीसदी हिस्सेदारी: रिपोर्ट

जैक ने अक्टूबर 2020 में चीन की आलोचना की थी

जैक मा ने अक्टूबर, 2020 में चीन के वित्‍तीय नियामकों और सरकारी बैंकों की आलोचना की थी. उन्होंने शंघाई में दिए अपने भाषण में यह आलोचना की थी. जैक मा ने सरकार से आह्वान किया था कि वह ऐसे सिस्‍टम में बदलाव करे, जो कारोबार में नवाचारों के प्रयासों को दबाने का काम करते हैं. मा के इस भाषण के बाद चीन की सत्‍तारूढ़ कम्‍युनिस्‍ट पार्टी मा पर बिगड़ गई थी. इसके बाद से मा के एंटी ग्रुप सहित कई कारोबारों पर असाधारण प्रतिबंध लगाए जाने शुरू हो गए थे.

मीडिया के प्रति काफी सहज रहने वाले जैक मा का एंट ग्रुप के IPO के निलंबन के बाद से ही कोई सार्वजनिक उपस्थिति दर्ज नहीं कराना सभी को चौंका रहा है. आपको बता दें कि 2016 और 2017 में चीन के कुख्यात भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के दौरान कई अरबपति गायब हो गए थे. इनमें से कुछ दोबारा दिखाई दिए. उन्होंने बताया था कि वे अधिकारियों की मदद कर रहे थे, जबकि, अन्य कभी नहीं लौटे.