मे साई. थाईलैंड में बाढ़ग्रस्त गुफा में फंसी फुटबॉल टीम के बचाव अभियान की देखरेख कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि 12 खिलाड़ी और उनके कोच को एक ही बार में एक साथ बाहर नहीं निकाला जा सकता है. चिआंग राय प्रांत के गवर्नर नारोंगसक ओसातानाकोर्न ने कहा, ‘सभी 13 लोगों को एक ही बार में बाहर नहीं निकाला जा सकता. अगर उनका स्वास्थ्य ठीक और व्यक्ति 100 फीसदी तैयार है तभी वह बाहर आ सकता है.’ Also Read - नागरिकता संशोधन विधेयक सिक्किम की भावनाओं के खिलाफ हम इससे हताश हैं : बाइचुंग भूटिया

उन्होंने बताया कि अधिकारी हर दिन इसका आकलन करेंगे कि क्या वह बाहर निकलने के लिए तैयार हैं. अगर कोई जोखिम होगा तो हम आगे नहीं बढ़ेंगे. ताजा वीडियो में लड़के और उनके कोच थाईलैंड की नेवी सील के साथ अंधेरी गुफा में बैठे हुए दिख रहे हैं. उनके चेहरे पर फ्लैश लाइट की रोशनी पड़ी, जिसमें वे गर्म कंबल ओढ़े बैठे हुए हैं. Also Read - थाईलैंड गुफा मामला: नायक बनकर उभरे कोच एक्कापोल को नागरिकता मिलने का इंतजार

हाथ जोड़ किया अभिवादन
उन्होंने पारंपरिक अभिवादन के तौर पर अपने दोनों हाथो को जोड़ा और एक-एक करके अपना नाम बताया. यह भी बताया कि वे स्वस्थ हैं. नारोंगसक ने बताया कि लड़कों ने डाइविंग मास्क पहनने और सांस लेने का अभ्यास किया, लेकिन उनका मानना है कि उन्होंने अभी तक गोताखोरी का कोई अभ्यास नहीं किया. Also Read - 17न की जद्दोजहद के बाद आखिरकार गुफा से निकाले गए सभी 12 लड़के और कोच

23 जून को निकले थे प्लेयर
बता दें कि 11 से 16 साल की आयु के ये खिलाड़ी और उनका 25 वर्षीय कोच 23 जून को फुटबॉल के एक मैच के बाद उत्तरी चिआंग राय प्रांत में थाम लुआंग नांग नोन गुफा देखने निकले थे. इसके बाद वे लापता हो गए थे. भारी बारिश के कारण गुफा के जलमग्न होने से वे उसमें फंस गए थे. एक ब्रिटिश गोताखोर ने सोमवार रात को उन्हें ढूंढा था. लड़कों को देखकर उनके परिवार के सदस्यों ने थोड़ी राहत की सांस ली. अधिकारी गुफा तक इंटरनेट केबल लगाने पर काम कर रहे हैं ताकि माता-पिता अपने बच्चों से बात कर सकें.