कराची: पाकिस्तानी बेड़े के कमांडर वाइस एडमिरल अमजद खान नियाजी ने कहा है कि समुद्री सुरक्षा प्रतिस्पर्धी होने के बजाय सहयोगात्मक होनी चाहिए. नियाजी ने पांच दिवसीय बहुराष्ट्रीय समुद्री अभ्यास ‘अमन-19’ का शुक्रवार को उद्घाटन किया, जिसमें 46 देश भाग ले रहे हैं और इस बात पर जोर दिया कि समुद्री सुरक्षा राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अहम है और समुद्री मार्गों की रक्षा अर्थव्यवस्था के लिए अनिवार्य है.

पाकिस्तान 19 फरवरी को जाधव के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में सारे सबूत पेश करेगा: कुरैशी

हर दो साल में होता है आयोजन
उन्होंने मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि समुद्री सुरक्षा प्रतिस्पर्धी होने के बजाय सहयोगात्मक होनी चाहिए. नौ-सेना अभ्यास के बारे में वाइस एडमिरल ने कहा कि अमन-2019 अभ्यास से इसमें भाग ले रहे देशों को एक-दूसरे की समुद्री अवधारणाओं और संचालनात्मक संस्कृति को समझने में मदद मिलेगी. नियाजी ने बताया कि साल 2007 में शुरु होने के बाद से यह अभ्यास हर दो साल में आयोजित किया जाता है. यह अभ्यास दो चरणों में होगा. बंदरगाह चरण शुक्रवार से रविवार तक होगा जिसके बाद 11 और 12 फरवरी को समुद्री चरण आयोजित होगा. (इनपुट भाषा)

हिना ने पाकिस्तान को दिखाया आईना, कहा- अमेरिका से कटोरा लेकर भीख मांगने की बजाय भारत से रिश्ते करे मजबूत