वाशिंगटन: भारत और अमेरिका 2+2 वार्ता से पहले महत्वपूर्ण द्विपक्षीय संबंधों के आयाम तैयार करने के लिए कूटनीतिक और सामरिक दोनों तरीकों से साथ मिलकर काम कर रहे हैं. बता दें कि सितंबर महीने में नयी दिल्ली में भारत और अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच पहली 2+2 वार्ता होनी है.

कैमरे हर जगह मेरा पीछा कर रहे हैं मेरी एक गलती के इन्तजार में: ट्रम्प

वार्ता को लेकर अमेरिका भी उत्साहित
दक्षिण एवं मध्य एशिया के लिए प्रधान उप सहायक मंत्री एलिस वेल्स ने संसदीय समिति को बताया कि सितंबर में नई दिल्ली में होने वाली 2+2 वार्ता को लेकर अमेरिका बहुत उत्सुक है. वेल्स ने आशा जताई कि वार्ता के कारण दोनों देशों के परस्पर संबंधों में ठोस प्रगति होगी. भारतीय-अमेरिकी सांसद अमी बेरा के सवाल का जवाब देते हुए वेल्स ने कहा, भारत के संबंध में, हम छह सितंबर को होने वाली 2+2 वार्ता का इंतजार कर रहे हैं.

UN मानवाधिकार परिषद से अलग हुआ अमेरिका, लगाया बड़ा आरोप

उन्होंने कहा हमें विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस द्वारा वहां इस महत्वपूर्ण रक्षा साझेदारी को आगे बढ़ाए जाने का इंतजार है. इस बैठक में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस तथा भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण हिस्सा लेंगी.

कई बार टलने के बाद तय हआ समय
उन्होंने कहा कि मंत्री पोम्पिओ के अनुसार इस सबसे महत्वपूर्ण संबंध के आयाम तय करने के लिए हम कूटनीतिक और सामरिक दोनों मोर्चों पर साथ मिलकर काम कर रहे हैं. सितंबर में नयी दिल्ली में भारत और अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच पहली 2+2 वार्ता होनी है. गौरतलब है कि कई बार तारीख टलने के बाद अंतत: इस वार्ता का दिन निश्चित हुआ है.