नई दिल्ली: काले जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस अफसर द्वारा हत्या के बाद अमेरिका में विरोध प्रदर्शन और आन्दोलन पूरे उफान पर है. ये प्रदर्शन कई जगहों पर हिंसक हो गया है. प्रदर्शनकारियों ने कई जगहों पर आगजनी की है. और भी कई तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं. इसी बीच वाशिंगटन में लगी महात्मा गांधी की प्रतिमा को भी कुछ प्रदर्शनकारियों ने निशाना बनाया है. वाशिंगटन में लगी महात्मा गांधी की प्रतिमा को तोड़ दिया गया. इस पर डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने माफ़ी मांगी है और कहा है कि हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए था.Also Read - इराक के प्रधानमंत्री ने कहा- हमारे देश अब अमेरिकी सैनिकों की ज़रूरत नहीं, हम आतंकियों से लड़ने में सक्षम

इस प्रतिमा को क्षति पहुंची है. इसके बाद प्रतिमा को ढँक दिया गया है. पुलिस घटना की जांच कर रही है. बता दें कि जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका में नस्लभेद के खिलाफ आवाज़ मुखर हो गई है. हज़ारों लोग सड़कों पर उतर आए हैं. कई जगहों पर उग्र प्रदर्शन हो रहे हैं. हिंसा और प्रदर्शनों की आग अमेरिका के दर्जनों शहरों में फ़ैल चुकी है. यहाँ तक की लोग वाइट हाउस के बाहर प्रदर्शन करने लगे तो डोनाल्ड ट्रंप को बंकर में बाहर निकलना पड़ा. Also Read - अमेरिका के 245वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी ने जो बाइडेन से क्या कहा, जानिए

इस बीच प्रदर्शनकारियों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा को भी नुकसान पहुंचाया. ये प्रतिमा वाशिंगटन डीसी स्थित भारतीय दूतावास के सामने लगी थी. इसका अनावरण पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और अमेरिकी राष्ट्रपति रहे बिल क्लिंटन ने आज से करीब 20 साल पहले सन 2000 में किया था. Also Read - दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचे राष्ट्रपति, राजभवन में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया