लंदन: दवा कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन और सनोफी पैस्टर ने अमेरिका को कोविड-19 के 10 करोड़ प्रयोगात्मक टीकों की आपूर्ति की घोषणा की है. अमेरिकी सरकार इसके लिए करीब 2.1 अरब डॉलर की राशि खर्च करेगी. वह इस उम्मीद में यह खर्च करेगी कि इससे कुछ फायदा होगा. Also Read - कैंसर के इलाज के लिए अमेरिका जाने में संजय दत्त को आ सकती है मुश्किल, कहां फंस रहा है पेंच?

कंपनियों ने एक बयान में कहा कि अमेरिका 2.1 अरब डॉलर का भुगतान करेगा. ताकि कोविड-19 के संभावित टीके के चिकित्सकीय परीक्षण, विनिर्माण और आपूर्ति के स्तर को बढ़ाया जा सके. इस राशि का एक बड़ा हिस्सा सनोफी के पास जाएगा. Also Read - आतंकी संगठन लश्कर का जल्लाद बनने पाकिस्तान जा रहा था अमेरिकी शख्स, 15 साल की जेल

अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स एजर ने एक बयान में कहा ऑपरेशन वार्प स्पीड के तहत टीकों का पोर्टफोलियो तैयार किया जा रहा है. ताकि साल के अंत तक हमारे पास जल्द से जल्द कम से कम एक सुरक्षित टीका उपलब्ध हो. ऑपरेशन वार्प स्पीड के तहत अमेरिका के दीर्घावधि में 50 करोड़ टीकों की अतिरिक्त आपूर्ति हासिल करने का विकल्प भी है. Also Read - रूस में कोरोना की वैक्सीन ‘Sputnik V’ बनकर तैयार, भारत सहित 20 देशों ने दिया 100 करोड़ डोज का ऑर्डर

इससे पहले ब्रिटिश सरकार ने इस हफ्ते की शुरुआत में कोरोना वायरस के संभावित टीके की 6 करोड़ खुराकों के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. इसकी आपूर्ति अगले साल की पहली छमाही से शुरू की जानी है.

ब्रिटेन की ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन और फ्रांस की सनोफी के टीके मौजूदा डीएनए आधारित प्रौद्योगिकी पर विकसित किए गए हैं. सनोफी इस प्रौद्योगिकी का उपयोग अपने मौसमी फ्लू के टीके के विनिर्माण में करती है.