पाम बीच/अमेरिका: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह संकेत दिया है कि वह जल्द ही अफगानिस्तान जाकर वहां मौजूद अमेरिकी सैनिकों से मिलेंगे. थैंक्स गिविंग टेलीफोन कॉन्फ्रेंस में गुरुवार को सेना के सदस्यों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान में तैनात कर्नल से कहा, ‘‘ मैं आपसे तब मिलूंगा जब आप अमेरिका आएंगे या मैं आपसे वहां (अफगानिस्तान में) मिलूंगा.’

 14 हजार अमेरिकी सैनिक हैं तैनात
संवाददाताओं द्वारा बाद में इस यात्रा के बारे में सवाल पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ‘‘ उचित समय पर हम लोग कुछ रोचक चीजें करनेवाले हैं.’ अमेरिका पर 11 सितंबर, 2001 को हुए हमले के बाद जंग शुरू होने के 17 साल बाद भी अफगानिस्तान में 14 हजार अमेरिकी सैनिक तैनात हैं. डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिकी राष्ट्रपति का कार्यभार संभाले हुए दो साल बीत चुके हैं लेकिन उन्होंने अभी तक अफगानिस्तान का दौरा नहीं किया है.

तालिबान से शांति पर चर्चा !
संघर्ष क्षेत्र में होने वाली राष्ट्रपति की यात्रा को सामान्य तौर पर अंतिम समय तक गुप्त रखा जाता है. ट्रंप ने कहा कि हम लोग अफगानिस्तान को लेकर जबर्दस्त चर्चा कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हम शांति के बारे में चर्चा कर रहे हैं.’’ हालांकि, उन्होंने इस बात की पुष्टि नहीं की कि क्या यह बातचीत सीधे तालिबान से हो रही है. उन्होंने कहा, ‘‘अगर कुछ होता है तो वह बहुत अच्छा होगा. मुझे उसको लेकर बहुत खुशी होगी.’ हालांकि, तालिबान का कहना है कि हाल के महीनों में कतर में अमेरिकी अधिकारियों के साथ उनकी कम से कम तीन बैठकें हुई हैं, लेकिन अमेरिका ने अभी तक इस सीधी वार्ता की न तो पुष्टि की है और न ही इससे इंकार किया है. (इनपुट एजेंसी)

अमेरिका: ट्रंप ने प्रवासियों से कड़ाई से निपटने के लिए सैनिकों के अधिकारों में किया इजाफा