वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय मूल के अमेरिकी नील चटर्जी को बुधवार को संघीय ऊर्जा नियामक आयोग (एफईआरसी) का प्रमुख नियुक्त किया. यह एजेंसी अमेरिका के पावर ग्रिड और कई अरब डॉलर की ऊर्जा परियोजनाओं की निगरानी का काम करती है. नील चटर्जी, केविन मैकइनटायर का स्थान लेंगे.

दूसरी बार नील पर भरोसा जताया 
मैकइनटायर ने 22 अक्टूबर को स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए त्यागपत्र दे दिया था. व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी कर कहा है, “ट्रंप ने नील चटर्जी को संघीय ऊर्जा नियामक आयोग का चेयरमैन नियुक्त किया है.” चटर्जी वर्तमान में एफईआरसी के तीन आयुक्तों में से एक है. यह दूसरा मौका है जब चटर्जी को इस प्रतिष्ठित एजेंसी का चेयरमैन नियुक्त किया गया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की फोन पर होने वाली बातचीत को सुनते हैं ‘चीन व रूस’: रिपोर्ट

वह मैकइनटायर के पद संभालने से पहले 10 अगस्त, 2017 से सात दिसंबर के मध्य इस पद पर थे. नील चटर्जी के माता-पिता करीब 50 साल पहले कोलकाता से अमेरिका जाकर बस गए थे. लेक्सिंगटन, केंटकी के रहने वाले नील चटर्जी ने सेंट लॉरेंस विश्वविद्यालय और यूनिवर्सिटी ऑफ सिनसिनाटी के कॉलेज ऑफ लॉ से शिक्षा हासिल की. (इनपुट एजेंसी)

सीएनएन को भेजी गई विस्फोटक सामग्री, ट्रम्प पर गैर जिम्मेदाराना रवैये का आरोप