वाशिंगटन: अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता मामलों के लिए अमेरिका के विशेष दूत ने कहा कि अमेरिका चाहता है कि दलाई लामा का उत्तराधिकारी चुनने का मामला संयुक्त राष्ट्र में उठाया जाए ताकि तिब्बतियों के आध्यात्मिक नेता का उत्तराधिकारी चुनने की चीन की कोशिश को रोका जा सके.

भारतीय डॉक्टरों को अब दो हफ्ते में मिलेगा वीजा, ब्रिटेन के गृहमंत्री मंत्री ने किया वादा

अमेरिकी विशेष दूत सैम ब्राउनबैक ने कहा कि उन्होंने 84 वर्षीय दलाई लामा से धर्मशाला में पिछले सप्ताह मुलाकात करके उत्तराधिकारी के मामले पर लंबी चर्चा की थी. ब्राउनबैक ने बताया कि उन्होंने दलाई लामा से कहा कि अमेरिका इस बात के लिए वैश्विक स्तर पर समर्थन हासिल करने की कोशिश करेगा कि अगले आध्यात्मिक नेता का चयन ‘‘चीन सरकार नहीं बल्कि बौद्ध धर्म के अनुयायी तिब्बती करें’’.

विकीलीक्स के बारे में पाक मौलाना ने किया चौकाने वाला खुलासा, इमरान खान की पूर्व पत्नी जेमिमा का नाम हुआ शामिल

सैम ब्राउनबैक ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि संयुक्त राष्ट्र इस मामले को उठाएगा. ब्राउनबैक ने स्वीकार किया कि सुरक्षा परिषद में वीटो शक्ति रखने वाला चीन इस संबंधी हर कदम को बाधित करने की कोशिश करेगा लेकिन बाकी देश संयुक्त राष्ट्र में अपनी आवाज तो उठा सकते हैं.