वाशिंगटन: डाटा गोपनीयता से जुड़े मामले में आरोप का सामना कर रहे google के CEO भारतीय-अमेरिकी सुंदर पिचाई सर्च इंजन पर डाटा गोपनीयता के उल्लंघन को लेकर पूछ-ताछ के संबंध में जब अमेरिकी सांसदों के समक्ष पेश हुए तो भारतीय मूल की पहली महिला सांसद प्रमिला जयपाल उनसे अपना नाता बताने से खुद को रोक नहीं पाईं. पिचाई और जयपाल आज दोनों ही अपने-अपने क्षेत्रों में महत्वपूर्ण पदों पर हैं और दोनों की ही जड़ें भारत में हैं.

ब्राजील: चर्च में गोलीबारी की वारदात, हमलावर सहित 5 लोगों की मौत

दोनों ही एच-1बी वीजा के जरिए आए थे अमेरिका
भारतीय-अमेरिकी महिला सांसद प्रमिला जयपाल ने संसद की सुनवाई के दौरान गूगल के सीईओ से कहा कि मैं इस मौके का फायदा उठाते हुए यह बताना चाहूंगी कि ‘मैं भी भारत के उसी हिस्से में जन्मी हूं जहां आपका जन्म हुआ था. आपको कम्पनी का नेतृत्व करता देख काफी खुश हूं और वह भी अफवाहों के बावजूद यह दिखाते हुए कि प्रवासी इस देश को बहुमूल्य योगदान दे रहे हैं’ उन्होंने कहा शुक्रिया पिचाई.

46 वर्षीय सुंदर पिचाई का जन्म चेन्नई में हुआ था. उन्होंने आईआईटी खड़गपुर से स्नातक की उपाधि प्राप्त कर वर्ष 2004 में गूगल के साथ काम करना शुरू किया और वर्ष 2015 में कंपनी के सीईओ बने. 53 वर्षीय प्रमिला जयपाल का जन्म भी चेन्नई में हुआ था और वह बतौर छात्र अमेरिका आईं थीं. दोनों ही एच-1बी वीजा प्राप्त कर यहां आए, ग्रीन कार्ड हासिल किया और फिर अमेरिकी नागरिकता हासिल की. (इनपुट एजेंसी)

हाई-अलर्ट पर पेरिस: ‘येलो वेस्ट’ प्रदर्शन के चलते फुटबॉल मैच और म्यूजिक शो भी हुए कैंसिल