न्यूयॉर्क: पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी पर एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने बड़ा बयान दिया है. गैस्टन ने कहा है कि मेहुल चोकसी से पूछताछ करने के लिए भारतीय जांच एजेंसियां स्वतंत्र हैं. मीडिया से बात करते हुए गैस्टन ब्राउन ने मेहुल चोकसी को धोखेबाज बताया और कहा कि अपील खत्म होने ही उसे निर्वासित कर दिया जाएगा. बता दें कि मेहुल चोकसी ने एंटीगुआ के सिटिजनशिप बाय इनवेस्टमेंट प्रोग्राम का इस्तेमाल करके एंटीगुआ की नागरिकता हासिल की थी.

एंटीगुआ और बार्बूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा, हमें इस बात की जानकारी बाद में मिली कि मेहुल चोकसी एक धोखेबाज है, उसकी अपील खत्म होने के तुरंत बाद उसे निर्वासित कर दिया जाएगा, और यदि वह सहयोग करने के लिए मान जाता है तो भारतीय एजेंसियां जांच करने के लिए स्वतंत्र हैं.

गौरतलब है कि मेहुल चोकसी और उनके भांजे नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई स्थित शाखा के साथ 14 हजार करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप है. जैसे ही इस घोटाले का भांडाफोड़ हुआ दोनों देश छोड़कर भाग गए थे.