सैन फ्रांसिस्को: एप्पल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) टिम कुक ने कहा है कि उनके लिए समलैंगिक होना ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार है. 30 अक्टूबर, 2014 को टिम ने विश्व की एक प्रमुख कंपनी के पहले समलैंगिक सीईओ के रूप में अपनी पहचान का खुलासा किया था. Also Read - iPhone से आखिर क्यो खफा हैं दुनिया का सबसे शाक्तिशाली व्यक्ति Donald Trump

Also Read - Cook: Apple will remain in the country until the next 1000 years । कुक: एप्पल देश में अगले 1000 वर्षो तक रहेगा

हालांकि, इससे पहले भी उनके समलैंगिक होने की अफवाहें काफी समय से चल रहीं थीं, लेकिन उन्होंने कभी इसकी पुष्टि नहीं की। कुक ने कहा कि वह अपने व्यक्तित्व और अपने फैसले से खुश थे. सीएनएन इंटरनेशनल और पीबीएस के लिए एक विशेष साक्षात्कार में एप्पल के सीईओ ने बुधवार को क्रिश्चियन अमानपौर से कहा, “मुझे इस पर बहुत गर्व है;” उन्होंने कहा, “समलैंगिक होना मेरे लिए ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार है.” Also Read - Apple CEO Tim Cook visited Mumbai's Siddhivinayak temple | भारत पहुंचे एप्पल के सीईओ टिम कुक, अंबानी के बेटे के साथ पहुंचे सिद्धिविनायक मंदिर

शांति बहाली में अहम भूमिका निभा सकती हैं महिलाएं, अफ़सोस इनकी सहभागिता बेहद कम: UN

कुक ने कहा कि उन्होंने अपनी पहचान को सार्वजनिक करने का फैसला कई बच्चों के पत्रों को पढ़ने के बाद किया, जिसमें बच्चों ने लिखा था कि उन्हें अपनी इस पहचान के कारण डराया जाता है. कई बच्चों ने बताया कि उन्हें उनके घरों से निकाल दिया गया है, जिससे वह आत्महत्या करने पर मजबूर हो गए. उन्होंने कहा, “मैं दृढ़तापूर्वक कहना चाहता हूं कि हर किसी का सम्मान किया जाना चाहिए. मैंने अपनी पहचान सबके सामने उजागर की, क्योंकि मुझे उन बच्चों ने पत्र भेजा, जिन्होंने इंटरनेट पर मेरे बारे में पढ़ा कि मैं समलैंगिक हूं.”

व्हाइट हाउस ने दी सफाई कहा- अमेरिकी राष्ट्रपति के पास सिर्फ एक सरकारी i-Phone है

कुक ने कहा कि वह एक निजी व्यक्ति हैं, लेकिन उन्होंने सोचा कि अगर वह अपनी पहचान छुपाए रहते हैं तो यह स्वार्थ होगा, क्योंकि वह इस तरह कई लोगों की मदद कर सकते हैं. इसलिए उन्होंने आखिरकार यह फैसला किया. कुक ने कॉरपोरेट कर कटौती के ट्रंप के फैसले की भी सराहना की. उनका मानना है कि इससे लोगों को अमेरिका में अधिक निवेश करने में मदद मिलेगी. कुक ने हालांकि ट्रंप की अप्रवासन में कमी करने वाली नीतियों पर असहमति जताते हुए कहा कि यह जीडीपी के लिए मददगार है.