इस्लामाबाद/ लाहौर: पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान ने आरिफ अल्वी को देश के राष्ट्रपति पद के लिए अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया है. यह जानकारी पाकिस्तान के भावी सूचना मंत्री फवाद अहमद खान दी. समाचार एजेंसी ‘सिन्हुआ’ की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान खान ने शनिवार को इस बावत घोषणा की. इमरान खान सत्ताधारी दल पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के अध्यक्ष भी हैं.

वरिष्ठ राजनेता आरिफ अल्वी वर्तमान में नेशनल असेंबली के सदस्य हैं और उनको इमरान खान का विश्वस्त माना जाता है. वह पीटीआई के संस्थापक सदस्य हैं. अल्वी 2006 से लेकर 2013 तक पार्टी के महासचिव थे.

पाकिस्तान में 4 सितंबर हो राष्ट्रपति चुनाव होगा, जिसमें वर्तमान राष्ट्रपति ममनून हुसैन का कार्यकाल समाप्त होने के बाद उनके परवर्ती का चयन किया जाएगा. पाकिस्तान में राष्ट्रपति का निर्वाचन नेशनल असेंबली यानी पाकिस्तानी संसद के निम्न सदन सीनेट और चार प्रांतीय विधानसभाओं के सदस्य करते हैं.

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नए मुख्यमंत्री बने उस्मान बुजदार
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की ‘पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी’ (पीटीआई) के उम्मीदवार सरदार उस्मान अहमद खान बुजदार को पंजाब प्रांत का मुख्यमंत्री चुन लिया गया. बुजदार के मुख्यमंत्री बनने के साथ ही देश की सबसे अधिक आबादी वाले इस प्रांत में शहबाज शरीफ की अगुवाई वाले पीएमएल-एन के 10 साल के शासन का अंत हो गया.

पंजाब विधानसभा के अध्यक्ष परवेज इलाही ने सदन में मतविभाजन के परिणाम की घोषणा करते हुए बताया कि बुजदार को 186 मत हासिल हुए जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के हमजा शहबाज को 159 मत हासिल हुए.

– मुख्यमंत्री बुजदार उन्होंने कहा, ”मैं स्वयं एक अविकसित इलाके से आता हूं. बेहतर शासन और भ्रष्टाचार का अंत हमारी प्राथमिकता होगी.” उन्होंने कहा कि उनकी सरकार इमरान खान के विजन को आगे बढ़ाएगी. बुजदार ने इस शीर्ष पद पर नामित करने के लिए पीएम इमरान खान का शुक्रिया अदा किया.

– हमजा पीएमएल-एन प्रमुख शहबाज शरीफ के बेटे हैं. शहबाज स्वयं प्रदेश के मुख्यमंत्री थे
– वह 2008 से 2018 तक पंजाब के मुख्यमंत्री के पद पर रह चुके हैं
– निर्वाचित मुख्यमंत्री बुजदार पहले शरीफ की टीम में ही थे.
– प्रांतीय विधानसभा के अपने पहले संबोधन में 49 साल के बुजदार ने प्रांत के उन इलाकों पर ध्यान देने के बारे में कहा जिसकी लगातार अनदेखी की गई
– प्रदेश विधानसभा में पीटीआई को 179 सीटें मिली हैं जबकि पीएमएल-एन को 164 सीट हासिल हुई है
– प्रांत में सरकार गठन के लिये सदन के 371 सदस्यों में से 186 सदस्यों का समर्थन जरूरी है
– पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सात सदस्य सदन में मौजूद थे, लेकिन उन्होंने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया
– पंजाब के निर्वाचित मुख्यमंत्री प्रदेश के सबसे अधिक पिछड़े इलाके डेरा गाजी खान मंडल से आते हैं
– राजधानी लाहौर से डेरा गाजी खान 400 किलोमीटर दूर है.