कराची: पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत में बंदरगाह शहर ग्वादर स्थित एक पांच सितारा होटल पर कम से कम तीन सशस्त्र आतंकवादियों ने शनिवार को हमला कर दिया. इस दौरान आतंकवादियों और सुरक्षा कर्मियों के बीच गोलीबारी हुई. डान न्यूज ने ग्वादर थाने के प्रभारी असलम बांगुलजई के हवाले से बताया कि पील कॉन्टिनेंटल होटल में स्थिति को संभालने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल, आतंकवाद निरोधक बल और सेना मौजूद है.

 

सेना की मीडिया इकाई इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने कहा कि तीन आतंकवादियों ने होटल में जबर्दस्ती प्रवेश का प्रयास किया. प्रवेशद्वार पर एक सुरक्षा गार्ड ने उन्हें चुनौती दी जिसके बाद आतंकवादियों ने गोली चलाकर उसे मार डाला. पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों और नौसेना, सैन्यकर्मियों के बीच मुठभेड़ जारी है. होटल में आमतौर पर व्यापार और अवकाश पर आये यात्री रुकते हैं. यह होटल ग्वादर में वेस्ट बे से दक्षिण में फिश हार्बर रोड पर कोह ए बातिल में स्थित है. फ्रंटियर कोर कर्मियों ने होटल की घेराबंदी कर दी.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने बलूचिस्तान के सूचना मंत्री जहूर बुलेदी के हवाले से कहा कि होटल में रुके सभी विदेशी एवं स्थानीय मेहमानों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. चीन सीपेक के तहत बलूचिस्तान में भारी निवेश कर रहा है. एसएचओ बांगुलजई ने कहा कि शाम चार बजकर 50 मिनट (स्थानीय समयानुसार) पर हमें सूचना मिली कि पीसी होटल में तीन से चार सशस्त्र व्यक्ति हैं. अभी तक किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

 

पुलिस महानिरीक्षक मोहसिन हसन बट ने कहा कि दो से तीन बंदूकधारियों ने पहले गोली चलाई और उसके बाद होटल में घुसे. उन्होंने कहा कि 95 प्रतिशत होटल को खाली करा लिया गया है. सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि अभियान जारी है. प्रांतीय पुलिस प्रमुख ने कहा कि हो सकता है कि हमलावर हमला करने के लिए नौका में आये हों. डान न्यूज ने बताया कि बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री जाम कमाल खान एलानी ने पीसी होटल पर आतंकवादी हमले की निंदा की और प्राधिकारियों को होटल के भीतर सभी व्यक्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा.

उन्होंने आतंकवादियों के खिलाफ योजनाबद्ध एवं कड़ी कार्रवाई का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि स्थिति के संबंध में वे पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन के साथ सम्पर्क में हैं. अफगानिस्तान और ईरान की सीमा से सटा बलूचिस्तान पाकिस्तान का सबसे बड़ा और सबसे गरीब प्रांत है. 18 अप्रैल को अर्द्धसैनिक बलों की वर्दी पहने अज्ञात बंदूकधारियों ने पाकिस्तानी नौसेना कर्मियों सहित कम से कम 14 यात्रियों को बलूचिस्तान में एक राजमार्ग पर बसों से बाहर निकालकर मार डाला था.