काठमांडू: कृत्रिम अंग शिविर के उद्घाटन के दौरान नेपाल के कई द्विव्यांगों को मुफ्त में भारत में बने ‘जयपुर फुट’ दिए गए. ‘भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति’ (बीएमवीएसएस) ने कृत्रिम अंग शिविर की शुरुआत ‘चौधरी फाउंडेशन’ के सहयोग से काठमांडू के ‘नॉर्विक इंटरनेशनल अस्पताल’ से की गई है. ‘चौधरी फाउंडेशन’ नेपाल के पहले अरबपति बिनोद चौधरी का धर्मार्थ संगठन है.

विदेश नीति: भारत- नेपाल संबंधों में फिर से आई मिठास का गवाह रहा साल 2018


तीन दिवसीय शिविर का आयोजन
काठमांडू के 50 लोगों को तीन दिवसीय शिविर के दौरान मुफ्त में कृत्रिम अंग दिए जाएंगे. एक अन्य शिविर पश्चिमी नेपाल के नवलपरासी जिले में आयोजित किया जाएगा जहां 400 से अधिक दिव्यांगों को कृत्रिम अंग दिए जाने की उम्मीद है. नेपाल के उप प्रधानमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री उप्रेन्द्र यादव, नेपाल में भारतीय राजदूत मंजीव सिंह पूरी, ‘चौधरी फाउंडेशन’ के अध्यक्ष बिनोद चौधरी और ‘जयपुर फुट’ के अध्यक्ष डी आर मेहता ने रविवार को एकसाथ शिविर का उद्घाटन किया. ‘भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति’ (बीएमवीएसएस) ने 1975 से अभी 30 देशों में करीब 17 लाख लोगों को कृत्रिम अंग मुहैया कराए हैं. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उप प्रधानमंत्री यादव ने कहा कि सरकार निजी क्षेत्र के सहयोग से जरूरतमंद लोगों को कृत्रिम अंग प्रदान करने के लिए एक स्थायी संगठन स्थापित करने की योजना बना रही है.

हिना ने पाकिस्तान को दिखाया आईना, कहा- अमेरिका से कटोरा लेकर भीख मांगने की बजाय भारत से रिश्ते करे मजबूत