काबुल: अफगानिस्तान की राजधानी के पुराने शहर के बीचों-बीच स्थित गुरुद्वारे में घुसकर बुधवार को एक बंदूकधारी ने हमला किया, जिसमें कम से कम चार लोगों की मौत हो गई. एक सिख सांसद ने यह जानकारी दी. गौरतलब है कि सिख समुदाय यहां अल्पसंख्यक है. Also Read - तबलीगी जमात का जुर्म तालिबानी है, माफ नहीं किया जा सकता: मुख़्तार अब्बासी नकवी

अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि पुलिस घटनास्थल पर पहुंच चुकी है, लेकिन गोलीबारी अभी जारी है. ताजा खबरों के मुताबिक, गुरुद्वारे को खाली करवा लिया गया है. Also Read - UPDATE, अफगानिस्तान में गुरुद्वारे पर हुए आतंकवादी हमले में 27 लोगों की मौत, 8 घायल

सांसद नरिंदर सिंह खालसा ने कहा कि जब हमला हुआ तब वह गुरुद्वारे के नजदीक ही थे और वह भागकर वहां पहुंचे. उन्होंने कहा कि हमले में कम से कम चार लोगों की मौत हुई है. हमले की जिम्मेदारी अभी किसी ने नहीं ली है. Also Read - काबुल में आतंकियों ने गुरुद्वारे में घुसकर किया हमला, 11 की हुई मौत, ISIS ने ली जिम्मेदारी

हालांकि इस महीने की शुरुआत में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध एक संगठन ने काबुल में अल्पसंख्यक शिया मुस्लिमों के एक धार्मिक समागम पर हमला किया था, जिसमें 32 लोगों की मौत हो गई थी.

इस रुढ़िवादी मुस्लिम बहुल देश में सिखों को बड़े पैमाने पर भेदभाव का सामना करना पड़ता है.