काबुल: अफगानिस्तान की राजधानी के पुराने शहर के बीचों-बीच स्थित गुरुद्वारे में घुसकर बुधवार को एक बंदूकधारी ने हमला किया, जिसमें कम से कम चार लोगों की मौत हो गई. एक सिख सांसद ने यह जानकारी दी. गौरतलब है कि सिख समुदाय यहां अल्पसंख्यक है. Also Read - पाकिस्तानी सांसदों को लेकर जा रहे प्लेन को Kabul एयरपोर्ट पर लैंडिंग की नहीं मिली इजाजत, यह है कारण

अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि पुलिस घटनास्थल पर पहुंच चुकी है, लेकिन गोलीबारी अभी जारी है. ताजा खबरों के मुताबिक, गुरुद्वारे को खाली करवा लिया गया है. Also Read - NANDED में गुरुद्वारा के बाहर पुलिस पर हमला और तोड़फोड़ करने के मामले में 14 लोग हिरासत में

सांसद नरिंदर सिंह खालसा ने कहा कि जब हमला हुआ तब वह गुरुद्वारे के नजदीक ही थे और वह भागकर वहां पहुंचे. उन्होंने कहा कि हमले में कम से कम चार लोगों की मौत हुई है. हमले की जिम्मेदारी अभी किसी ने नहीं ली है. Also Read - Afghanistan: तालिबान की चेतावनी, 1 मई के बाद विदेशी सैनिक नहीं हटे तो होगा हमला

हालांकि इस महीने की शुरुआत में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध एक संगठन ने काबुल में अल्पसंख्यक शिया मुस्लिमों के एक धार्मिक समागम पर हमला किया था, जिसमें 32 लोगों की मौत हो गई थी.

इस रुढ़िवादी मुस्लिम बहुल देश में सिखों को बड़े पैमाने पर भेदभाव का सामना करना पड़ता है.