पेरिस: फ्रांस की राजधानी पेरिस में शनिवार की शाम एक हमलावर ने अल्ला-हु-अकबर कहते हुए कई लोगों पर चाकू से हमला किया. इस हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 4 लोग घायल हो गए. इनमें से दो की हालत गंभीर है. ये वाकया सेंट्रल पेरिस के ओपेरा जिले में हुआ. पेरिस पुलिस ने हमलावर को वहीं ढ़ेर कर दिया. आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इस हमले की घटना की जिम्मेदारी ली है.

न्यूयॉर्क डेली न्यूज डॉट कॉम के मुताबिक, आतंकी संगठन ने एक हमलवार के चाकू से किए गए अटैक अपना बदला लेना बताया है. आतंकी संगठन आईएसआईएस ने सेंट्रल पेरिस में चाकू से किए गए जानलेवा हमले की घटना की जिम्मेदारी ली है. आईएसआईएस ने सोशल मीडिया पर ज़िम्मेदारी लेते हुए कहा कि ऑपरेशन किया गया है और ये गठबंधन देशों को जवाब है. चाकू से अटैक करने के दौरान हमलावर अल्ला हु अकबर चिल्ला रहा था.

पुलिस के मुताबिक, मध्य पेरिस के गार्नियर ओपेरा हाउस प्रांत में हमलावर ने कई लोगों पर चाकू से हमला किया, इसमें एक व्यक्ति की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और और अन्य चार लोग बुरी तरह जख्मी हो गए. इस दौरान पुलिस ने मुठभेड़ में उसे वहीं ढेर कर दिया था. हमले में घायल हुए दो लोगों की हालत गंभीर है. यह हमला शहर के मुख्य ओपेरा हाउस के पास हुआ. इस इलाके में कई बार, रेस्तरां और थियेटर हैं और वीक एंड होने की वजह से यहां काफी भीड़ थी. 

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमलावर ने अल्लाहू अकबर कहा और फिर हमला करने लगा. उन्होंने कहा कि मामले की आतंकी जांच की जा रही है. पुलिस ने कहा कि इस शख्स ने पांच लोगों पर चाकू से हमला किया, जिनमें से एक की मौत हो गई. घायलों में से दो की हालत गंभीर है और सभी फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं.

आईएस की आधिकारी अमाक संवाद समिति को बताया, ”पेरिस में चाकूबाजी के इस अभियान का हमलावर इस्लामिक स्टेट का एक सैनिक था और यह हमला इस्लामिक स्टेट पर हमले तेज करने के आह्वान की प्रतिक्रिया में किया गया है”.

फ्रांस खून की कीमत चुकाई
फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा , ”फ्रांस ने एक बार फिर खून की कीमत चुकाई है.”

धैर्य रखें
गृह मंत्री गेरार्ड कोलोम्ब ने एक ट्वीट में कहा , ”धीरज रखें , पुलिस की प्रतिक्रिया अच्छी थी, जिसने हमलावर को मार गिराया”

इसी साल मार्च में हुआ था हमला
– बीते मार्च महीने में एक सुपरमार्केट में आतंकी हमला हुआ था, जिसमें दो लोगों की मौत हुई थी.
– गोली चलाने वाले हमलावर ने इस्लामिक स्टेट से संबंधित होने का दावा किया था.
– फायरिंग करने वाले आतंकी ने 2015 पेरिस हमले में शामिल रहे आतंकी को छोड़ने की मांग की थी
– हमलावर को पुलिस ने मार गिराया.
‘चार्ली एब्दो’ के ऑफिस में हुए हमला में 12 की मौत हुई थी
– 2015 से फ्रांस पर आतंकी हमले हो रहे हैं
जनवरी 2015 मेंव्यंग्य मैगजीन ‘चार्ली एब्दो’ के ऑफिस के हमले में 12 लोगों की मौत हुई थी.

ट्रक हमले  में 84 लोगों की मौत
फ्रांस में जुलाई 2016 में एक ट्रक से कुचलकर 84 लोगों को मारने वाली हमले की जिम्मेदारी भी आईएसआईएस ने ली थी

सबसे बड़े हमले में 130 लोगों की जान गई थी
फ्रांस में साल 2015 के नवंबर पेरिस में ISIS आतंकियों का बार, रेस्टोरेंट और स्टेडियम में हमलों में 130 लोगों की हत्या

(इनपुट एजेंसी)