Australia swiftly evacuating Afghan civilians अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकवादियों के तेजी से भूभागों पर कब्जा करने के बीच ऑस्ट्रेलिया ऐसे अफगान नागरिकों को अमेरिका की मदद से तेजी से बाहर निकाल रहा है जिन्होंने ऑस्ट्रलिया की फौज एवं राजनयिकों की मदद की थी. यह जानकारी शुक्रवार को प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने दी.Also Read - Submarine Deal Issue: उत्‍तर कोरिया ने अमेरिका को दी जवाबी कार्रवाई की चेतावनी

ऑस्ट्रेलिया ने मई में अपने काबुल दूतावास को बंद कर दिया था और जून में अपने सैनिकों को वापस बुला लिया क्योंकि अमेरिका और नाटो की सेना 20 वर्षों की लड़ाई के बाद अफगानिस्तान से हट रहे हैं. मॉरिसन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने अप्रैल से 400 अफगान नागरिकों और उनके परिवार का पुनर्वास किया है जिन्हें ऑस्ट्रेलिया के साथ काम करने के कारण तालिबान से खतरा हो सकता है. Also Read - एशेज के लिए ऑस्ट्रेलिया जाने के लिए तैयार हैं स्टुअर्ट ब्रॉड लेकिन....

मॉरिसन ने यह नहीं बताया कि ऑस्ट्रेलिया में और कितने अफगान नागरिकों का पुनर्वास किया जाएगा. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘पिछले कुछ महीने में हमने इस पर काफी काम किया है. हम काम करते रहेंगे. हम अमेरिका एवं अन्य के साथ मिलकर काम कर रहे हैं जो इस इलाके में मौजूद हैं.’’ Also Read - तालिबान ने महिलाओं का मंत्रालय हटाया, पूरी तरह से पुरूष सदस्यों वाले मंत्रालय का किया गठन

तालिबान ने बृहस्पतिवार को देश के दो बड़े शहरों और रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण एक प्रांत की राजधानी पर कब्जा कर लिया. अमेरिकी सैनिकों की वापसी के कुछ हफ्तों के भीतर ही उसने अफगानिस्तान में बड़े भूभाग पर कब्जा कर लिया है.

(इनपुट भाषा)