वाशिंगटन: उत्तर पश्चिमी सीरिया में अमेरिकी हवाई हमले में दुनिया के सर्वाधिक वांछित आतंकवादी अबू बक्र अल-बगदादी का मारा जाना अमेरिका और पूरी दुनिया के लिए एक बहुत बड़ी सफलता है. यह ट्रंप शासन के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को यह घोषणा की कि अमेरिकी सेना के हवाई हमले में आईएसआईएस का नेता और दुनिया के सबसे वांछित आतंकवादी अबू बक्र अल-बगदादी ने खुद को बम से उड़ा लिया.

ईराक के समार्रा शहर में 1971 में जन्मे बगदादी ने खुद को ‘खालिफा इब्राहीम’ का नाम दिया था. पांच साल पहले आईएसआईएस के उदय के समय से बगदादी पर अमेरिका सरकार ने ढाई करोड़ डॉलर का ईनाम रखा था. वर्ष 2014 से बगदादी को पकड़ने का प्रयास किया जा रहा था. अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने बगदादी की मौत पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा है कि यह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बहुत बड़ी जीत है.

इस अभियान के बारे में जानकारी रखने वाले चुनिंदा लोगों में से एस्पर भी एक थे, जिन्होंने इस पूरे हमले को व्हाइट हाउस के सिचुएशन रुम से लाइव देखा. रक्षा मंत्री ने एक बयान में कहा, ‘‘इस वर्ष की शुरुआत में हमने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर आईएसआईएस को शिकस्त दी थी और अब उसका सरगना मारा गया है.’’ एस्पर ने रविवार को कहा कि यह अमेरिका के लिए और दुनिया के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है और शनिवार देर रात अमेरिका के संयुक्त विशेष अभियान बल और अनेक एजेंसियों ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निर्देश पर बगदादी को जिंदा पकड़ने या उसे समाप्त करने का अभियान पूरा किया.

एस्पर ने कहा है कि उत्तर पश्चिमी सीरिया में अमेरिकी हवाई हमले में दुनिया के सबसे वांछित आतंकवादी अबू बक्र अल-बगदादी का मारा जाना आईएसआईएस के खिलाफ अभियान में बड़ी कामयाबी है. अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने एक समाचार चैनल से साक्षात्कार में कहा कि दुनिया में इतना आंतक फैलाने वाला यह शख्स अपने अंतिम क्षणों में अमेरिकी सेना से पूरी तरह से डरा हुआ था. नेशनल इंटेलिजेंस के कार्यवाहक निदेशक जोसेफ मगुइरे ने बगदादी का खात्मा करने के लिए खुफिया समुदाय और विशेष अभियान बल को धन्यवाद दिया.

आईएसआईएस पश्चिमी सीरिया से पूर्वी ईराक तक लगभग 88,000 वर्ग किमी के क्षेत्र को नियंत्रित कर वहां के निवासियों को उत्पीड़ित करता रहा है. बगदादी ने आईएसआईएस के सदस्यों को दुनिया भर में बेकसूर लोगों के खिलाफ कायरतापूर्ण हमले करने के लिए उन्हें प्रेरित किया. बराक ओबामा द्वारा मई 2011 में एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने की घोषणा के बाद रविवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का ऐलान किसी प्रमुख आतंकवादी के मारे जाने की सर्वाधिक महत्वपूर्ण बयान है.

(इनपुट भाषा)