ढाका: बांग्लादेश के छत्ताग्राम जिले में सोमवार को इफ्तारी वितरण के समय सामग्री लेने के लिए इकठ्ठा हुई भीड़ में भगदड़ मचने कम से कम नौ महिलाओं की मौत हो गई. समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पुलिस अधिकारी के हवाले से कहा कि कादेरिया मोइनुल उलुम दाखिल मदरसे में इफ्तार सामग्री लेने के लिए करीब 20 हजार लोग इकठ्ठा हुए थे. भगदड़ उस वक्त हुई, जब लोग खाने के समान को पहले हासिल करने के लिए एक दूसरे के साथ धक्का-मुक्की करने लगे.

इस घटना में कम से कम 40 लोग घायल हुए, जिसमें अधिकतर महिलाएं और बच्चे हैं. इफ्तार को आयोजित करने वाले केएसआरएम स्टील फैक्ट्री के अध्यक्ष मेहरुल करीम ने कहा, “आमतौर पर सामग्री केवल इसी गांव के निवासियों को दी जाती है. लेकिन इस साल पास के गांवों के लोग यहां आ गए और भीड़ बढ़ गई. पुलिस के साथ-साथ हमारा अपने 100 से ज्यादा सुरक्षाकर्मी वहां मौजूद थे. एक चिकित्सा दल भी वहां मौजूद था लेकिन हमें फिर भी आपदा का सामना करना पड़ा.”

उन्होंने कहा, “मृतकों के परिवारों को तीन लाख टका बतौर मुआवजा दिया जाएगा. कंपनी घायलों के इलाज के खर्चे का भी वहन करेगी. मरने वाले लोगों के परिवारों के लिए नौकरियों का इंतजाम किया जाएगा.” जिला प्रशासन ने घटना की जांच शुरू कर दी है.

(इनपुट-एजेंसी)