अमेरिका के कैपिटल हिल (संसद भवन) में हिंसा के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सामने चुनौतियां बढ़ गई हैं. इस घटना से आहत उनकी कैबिनेट की दो सहयोगियों ने इस्तीफा दे दिया है. शिक्षा मंत्री बेटसे देवोस और परिवहन मंत्री इलेन चाओ ने इस्तीफा दे दिया है.Also Read - PM Narendra Modi US Visit: प्रधानमंत्री मोदी के 7 साल और 7 बार अमेरिका यात्रा, जानें कब क्या हुआ खास

देवोस का इस्तीफा शुक्रवार से प्रभाव में आ गया. उन्होंने कहा, ‘‘कैपिटल हिल पर हमला उनके लिए निर्णायक रहा. वहीं चाओ ने कहा कि हिंसा से वह बहुत आहत हैं. चाओ का इस्तीफा सोमवार से प्रभाव में आएगा. Also Read - ट्रंप ने की बाइडेन की आलोचना, कहा- सेना की वापसी इतनी बुरी तरह कभी नहीं हुई

राष्ट्रपति ट्रंप को बृहस्पतिवार को भेजे अपने इस्तीफे में देवोस ने कहा, ‘‘यह बर्ताव देश के लिए बिल्कुल अनुचित है. इसमें कुछ गलत नहीं है कि आपके बयानों का प्रभाव पड़ा. यह मेरे लिए निर्णायक रहा.’’ इससे पूर्व परिवहन मंत्री चाओ ने भी अपने इस्तीफे की घोषणा की. Also Read - अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे से बाइडन प्रशासन हैरान, ट्रंप ने बताया सबसे बड़ी हार

चाओ ने बृहस्पतिवार को अपने कर्मियों को भेजे ईमेल में कहा, ‘‘कैपिटल बिल्डिंग में ट्रंप के अपने समर्थकों की रैली को संबोधित करने के बाद देश के लिए दुखद और असमान्य हालात पैदा हो गए. इस घटना से मुझे बहुत ठेस पहुंची है और मुझे यकीन है कि आप सब भी आहत हुए होंगे.’’

हिंसा की घटना के बाद व्हाइट हाउस के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने इस्तीफा दिया है. इस्तीफा देने वालों में प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप की चीफ ऑफ स्टाफ स्टीफनी ग्रिशम, व्हाइट हाउस की उप प्रेस सचिव सारा मैथ्यूज और व्हाइट हाउस की सामाजिक मंत्री रिकी निसेटा शामिल हैं.

नॉदर्न आयरलैंड के लिए अमेरिका के विशेष दूत एवं व्हाइट हाउस के पूर्व चीफ ऑफ स्टाफ माइक मुलवेनी ने भी इस्तीफा दे दिया है.

(इनपुट-भाषा)