लाहौरः भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की 88वीं पुण्यतिथि के अवसर पर शनिवार को पाकिस्तान के लाहौर में एक कैंडल मार्च का आयोजन किया गया. लाहौर स्थित भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन ने पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मार्च का आयोजन किया.

कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों ने तीनों स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर भारत और पाकिस्तान के बीच शांति का आह्वान किया. भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन के अध्यक्ष इम्तियाज राशिद कुरैशी ने कहा, “इन तीनों क्रांतिकारियों जैसे लोग सदियों में पैदा होते हैं. हमें दोनों देशों के बीच नफरत को खत्म कर शांति को बढ़ावा देना चाहिए.” 23 वर्षीय भगत सिंह को राजगुरु और सुखदेव के साथ 23 मार्च, 1931 को लाहौर में फांसी दी गई थी. इस सजा ने हजारों लोगों को स्वतंत्रता आंदोलन के लिए प्रेरित किया था.