थिम्पू: भूटान ने मीडिया में आई उन खबरों को शुक्रवार को सिरे से खारिज कर दिया जिनमें दावा किया गया था कि उसने असम में किसानों को सिंचाई के लिए जल की आपूर्ति रोक दी है. भूटान ने इन खबरों को पूरी तरह ‘‘बेबुनियाद’’ बताया और कहा कि यह भारत के साथ गलतफहमी पैदा करने का निहित स्वार्थों से किया गया ‘‘सोचा समझा प्रयास’’ है. Also Read - असम में बाढ़ ने बढ़ाई मुश्किल, 10 लाख से अधिक लोग प्रभावित, बिहार में मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

भूटान की शाही सरकार के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि 24 जून 2020 से भारत में प्रकाशित कई समाचार लेखों में आरोप लगाया गया है कि भूटान ने उन जल आपूर्ति माध्यमों को अवरुद्ध कर दिया है जो असम में बक्सा तथा उदलगुरी जिलों में भारतीय किसानों तक सिंचाई का जल पहुंचाते हैं. Also Read - गृहमंत्री अमित शाह ने बाढ़ प्रभावित बिहार व असम के मुख्यमंत्रियों से की बात, दिया हर मदद का भरोसा

बयान में कहा गया, ‘‘यह आरोप तकलीफदेह है और विदेश मंत्रालय स्पष्ट करना चाहता है कि समाचार आलेख पूरी तरह से निराधार हैं क्योंकि इस समय जल प्रवाह को रोकने का कोई कारण है ही नहीं.’’ इसमें आगे कहा गया, ‘‘भ्रामक जानकारी फैलाने और भूटान तथा असम के मित्रवत लोगों के बीच गलतफहमी पैदा करने के लिए यह निहित स्वार्थों से किया गया सोचा-समझा प्रयास है.’’ Also Read - असम, झारखंड और पश्चिम बंगाल में 31 जुलाई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, भारत में 5 लाख के पार पहुंची कोरोना संक्रमितों की संख्या

(इनपुट भाषा)