थिम्पू: भूटान के प्रधानमंत्री लोताय त्शेरिंग ने बृहस्पतिवार को भारत के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर बधाई दी और प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए उन्हें एक ऐसा व्यक्ति बताया जिनके अपने देश को आगे ले जाने के ‘अच्छे इरादे’ हैं. त्शेरिंग की यह टिप्पणी मोदी की 17..18 अगस्त को भूटान की दो दिवसीय यात्रा से पहले आयी है जिस दौरान दोनों रणनीतिक सहयोगी देश अपनी साझेदारी में विविधता लाने के तरीकों का पता लगाएंगे.

त्शेरिंग ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि मैं दोनों देशों के लिए मित्रता के नये अध्याय खुलते देख रहा हूं. यद्यपि आज के लिए मैं भारत के लोगों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देता हूं. हम एक शांतिपूर्ण और समृद्ध भारत के लिए प्रार्थना करते हैं. उन्होंने नयी दिल्ली में मोदी के साथ अपनी दो बैठकों को याद करते हुए कहा कि विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र का नेता इतनी नम्रता और स्वाभाविक तरीके से सामने आया. त्शेरिंग ने मोदी की भूटान यात्रा को एक सम्मान बताते हुए कहा कि उनका स्वागत करना गर्व की बात होगी, न केवल भारत के प्रधानमंत्री के रूप में बल्कि एक महान मनुष्य के तौर पर जो न केवल अपने देश बल्कि आगे के लिए भी अच्छा सोचते हैं.

दो दिन भूटान जाएंगे पीएम मोदी
उन्होंने कहा कि मुझे इसका भी भरोसा है कि भूटान को उनके रूप में एक अच्छा मित्र मिला है. दो दिनों में वह देश की यात्रा करेंगे. इसमें कोई संदेह नहीं कि यह सम्मान की बात है. त्शेरिंग ने साथ ही एक पुस्तक के बारे में अपने विचार साझा किये जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा है. उन्होंने मोदी द्वारा लिखित ‘एग्जाम वारियर्स’ के बारे में टिप्पणी करते हुए सवाल किया कि ऐसे व्यक्ति जिसे अरबों लोगों के बारे में सोचना है और उनका प्रतिनिधित्व वैश्विक मंच पर करना है, वह बच्चों को परीक्षा का सामना करने के लिए तैयार करने के लिए भी समय निकालते हैं. क्या यह एक अच्छे नेता के गुण नहीं हैं?