सिएटल (अमेरिका): कश्मीर क्षेत्र में मानवाधिकारों के कथित हनन को लेकर विरोध प्रदर्शन के बावजूद बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सम्मानित करने जा रहा है. ‘जस्टिस फॉर ऑल’ से जुड़े दर्जन भर लोगों ने, उनमें से कुछ ‘फ्री कश्मीर’ लिखे टी-शर्ट पहने थे, सोमवार को गेट्स फाउंडेशन के सिएटल स्थित मुख्यालय को 100,000 निवेदकों के हस्ताक्षर वाला पत्र सौंपा, जिसमें उन्होंने दुनिया की सबसे बड़ी निजी व गैर-लाभकारी संस्था से मोदी को भारत की एक स्वच्छता पहल ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के लिए सम्मानित नहीं करने की अपील की. Also Read - UGC Guidelines: ममता बनर्जी ने कहा- फाइनल परीक्षा पर यूजीसी के दिशानिर्देशों का छात्र हितों पर होगा विपरीत असर 

सिएटल में एक प्रदर्शनकारी जावेद सिकंदर, जिसका कहना है कि वह माइक्रोसॉफ्ट का एक पूर्व कर्मचारी है, उसने माइक्रोसॉफ्ट सह-संस्थापक बिल गेट्स के फाउंडेशन की प्रशंसा की और उसे एक प्रेरणाश्रोत बताया. सिकंदर ने कहा, ‘यही कारण है कि हम इतने निराश हैं कि फाउंडेशन एक ऐसे व्यक्ति को सम्मानित करेगा जो स्पष्ट रूप से भारत में मानवाधिकार का उल्लंघन कर रहा है.’ Also Read - केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- केंद्रीय विश्वविद्यालयों के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं करें रद्द 

गेट्स फाउंडेशन ने एक बयान में कहा कि यह निवेदकों के विचारों का सम्मान करता है, लेकिन हम मोदी को भारत में 50 करोड़ लोगों को स्वच्छता प्रदान करने के लिए अपना वार्षिक ‘गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स’ पुरस्कार प्रदान करेंगे. गेट्स फाउंडेशन के बयान में कहा गया, ‘‘हम उन विशिष्ट मुद्दों पर काम करते हैं, जहां हमें लगता है कि हम दुनिया के सबसे गरीब लोगों के जीवन में सबसे अधिक बदलाव ला सकते हैं.’’ Also Read - पीएम मोदी ने देश को समर्पित किया एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्‍ट

मोदी अगले सप्ताह अमेरिका में फाउंडेशन का पुरस्कार ग्रहण करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी ह्यूस्टन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ एक रैली में भी भाग लेंगे.