वाशिंगटन: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने हैश टैग मी टू अभियान में मोनिका लेविंस्की से अपने संबंधों को लेकर अपना बचाव करते हुए कहा कि लेविंस्की से माफी मांगने की उनकी कोई योजना नहीं है. एनबीसी न्यूज के टुडे शो में लेविंस्की से माफी मांगने के प्रश्न पर क्लिंटन ने कहा, नहीं, मैं नहीं मांगता. मैंने उनसे कभी बात नहीं की. लेकिन मैं सार्वजनिक तौर पर कई बार माफी मांग चुका हूं. यह बहुत अलग है. मैंने सार्वजनिक माफी मांगी थी.

इनका रिश्ता 1998 में सार्वजनिक हुआ था. अपने कार्यकाल के दौरान क्लिंटन ने लेविंस्की से अपने संबंधों से पहले तो नकार दिया था, बाद में माफी मांगते हुए इस रिश्ते की बात स्वीकार की थी. मामले में उन्हें दोषी ठहराया गया, बाद में वे आरोपों से मुक्त हो गए थे. वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर लग रहे यौन आरोपों पर इशारा करते हुए क्लिंटन ने कहा, कहानी बनाने के लिए कई तथ्यों को आसानी से छोड़ा गया है, मुझे कुछ-कुछ लगता है क्योंकि वे निराश हैं कि ये सभी आरोप ओवल ऑफिस के वर्तमान मालिक पर लगे हैं और उनके मतदाताओं को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता दिखता.

इसी साल वैनिटी फेयर को लिखे एक लेख में लेविंस्की ने संबंधों से जुड़ी कहानियों पर सवाल उठाए थे जिन्होंने क्लिंटन पर अभियोग साबित करने में मुख्य भूमिका निभाई थी. उन्होंने लिखा, अब, 44 वर्ष की आयु में, अब विचार (सिर्फ विचार) कर रही हूं कि राष्ट्रपति और व्हाइट हाउस के प्रशिक्षु की हैसियत में कितना अंतर हैं. क्लिंटन ने सार्वजनिक रूप से माफी मांगते हुए कहा था कि उन्होंने पाप किया था.

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि हैश टैग मी टू अभियान पुराना हो गया है. उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि इसका यह मतलब नहीं कि मैं हर बात से सहमत हूं. अपने कुछ पुराने निर्णयों को लेकर मेरे पास अभी भी कुछ प्रश्न हैं.लेविंस्की से संबंध के प्रश्न पर क्लिंटन ने कहा, यह 20 वर्ष पुराना मामला है. तब दो-तिहाई अमेरिकी लोग मेरे पक्ष में थे.