मैदुगिरी. नाइजीरिया के उत्तरी दापची गांव से पिछले महीने 111 लड़कियों को अगवा करने वाले इस्लामी चरमपंथी समूह बोको हराम ने अपहृत लड़कियों में से एक और को रिहा करने की बात कही है. यह जानकारी नाइजीरियाई पुलिस के प्रमुख ने दी है. Also Read - Nigeria: Boko Haram attacked girls boarding school | बोको हराम ने नाइजीरिया में लड़कियों के स्कूल पर हमला किया

लीह शरीबू की मां ने बताया कि बातचीत के बाद बोकोहराम के चरमपंथियों ने उसकी 105 अन्य सहपाठियों को तो रिहा कर दिया, लेकिन लीह को बंदी बनाये रखा था. क्योंकि वह एक ईसाई है और उसने इस्लाम धर्म कबूलने से इनकार कर दिया था. उसी वक्त उन्होंने पांच अन्य लड़कियों को भी अगवा किया था, लेकिन उनका कोई अता-पता नहीं है. माना जाता है कि अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागने की कोशिश के दौरान ये लड़कियां भगदड़ में मारी गईं हैं. Also Read - Twenty people died in Nigeria attack by three suicide bombers | नाइजीरिया में तीन आत्मघाती हमलावरों के हमले में 20 लोगों की मौत

पुलिस महानिरीक्षक मोहम्मद अबूबकर ने बताया कि लड़की की रिहाई में कोई दिक्कत नहीं हो इसलिए उन्होंने दापची का दौरा रद्द कर दिया है. उन्होंने कहा कि भारी तादाद में सुरक्षा बलों की मौजूदगी से इन प्रयासों को नुकसान पहुंच सकता है. यह स्पष्ट नहीं है कि लड़की को कब मुक्त किया जाएगा. Also Read - Boko Haram changed the attack strategy in nigeria | नाइजीरिया: बोको हराम ने हमले की रणनीति बदली

लड़की के पिता नाथन शरीबू ने पुष्टि की कि उन्होंने लीह के दापची के लिये रवाना होने की बात सुनी है. लड़कियों को अगवा करने वाले समूह के प्रमुख ने भी उसकी रिहाई की पुष्टि की है.