भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके कोवैक्सीन की दो करोड़ खुराकें खरीदने पर सहमत हुई ब्राजील की सरकार ने समझौते में अनियमितताओं के आरोप लगने के बाद करार को निलंबित करने की बुधवार को घोषणा की.Also Read - Covid 19 Nasal Vaccine के तीसरे फेज का हुआ सफल परीक्षण, भारत बायोटेक जल्द करेगा लॉन्च

ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री मार्सेलो क्विरोगा ने ट्वीट किया, “सीजीयूऑनलाइन की अनुशंसा पर हमने कोवैक्सीन करार को अस्थायी रूप से निलंबित करने का फैसला किया है.” Also Read - डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ भी कारगर है Covaxin की बूस्टर डोज, जानें स्टडी में क्या आया सामने

उन्होंने कहा, “सीजीयू के प्रारंभिक विश्लेषण के मुताबिक, करार में कोई अनियमितता नहीं हैं लेकिन अनुपालन के कारण, मंत्रालय ने और विश्लेषण के लिए करार को रोकने का फैसला किया है.” Also Read - DCGI ने भारत बायोटेक को दी मंजूरी, 6-12 साल के बच्चों को अब लग सकेगी वैक्सीन

ब्राजील के साथ कोवैक्सीन करार उस वक्त विवादों में घिर गया जब दक्षिण अमेरिकी देशों के अटॉर्नी जनरल ने सौदे में जांच शुरू कर दी.

क्विरोगा ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “यह गौर करने लायक है कि ब्राजील सरकार ने कोवैक्सीन टीके के लिए एक पाई का भी भुगतान नहीं किया था.”

उन्होंने कहा, “यह कदम ब्राजील में कोविड 19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान की गति के साथ समझौता नहीं करेगा, चूंकि टीकाकरण एजेंट के आपातकालीन या निश्चित उपयोग के लिए अन्विसा (ब्राजील की राष्ट्रीय स्वास्थ्य नियामक एजेंसी) से कोई मंजूरी नहीं मिली है.” हालांकि, भारतीय दवा निर्माता (भारत बायोटेक) से तत्काल इस पर कोई टिप्पणी नहीं मिल पाई है.