ब्रासीलिया: जेल में बंद ब्राजील के पूर्व राष्ट्रपति लूला डा सिल्वा को अपने सात वर्षीय पोते के अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति मिल गई है. मस्तिष्क ज्वर के चलते उनके पोते की मौत हो गई. बीबीसी ने बताया कि लूला के पोते की शुक्रवार को मौत हुई और जेल में बंद पूर्व राष्ट्रपति को शनिवार को साओ पाउलो में पोते के अंतिम संस्कार में जाने की पाराना राज्य सरकार ने अनुमति दे दी. बता दें कि अप्रैल 2018 से  डा सिल्वा यहां जेल में सजा काट रहे हैं.

मारे गए अमेरिकी छात्र ओट्टो के परिवार ने ट्रंप से जताई नाराजगी कहा- किम हैं उसकी मौत के जिम्मेदार

 


पाराना राज्य सरकार ने कहा कि लूला (73) को अपने पोते आर्थर के अंतिम संस्कार में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी. शहर के लिए उनकी हवाई यात्रा की व्यवस्था की जा रही थी जो कुरितिबा में संघीय जेल से लगभग 340 किलोमीटर दूर है, जहां वह बंद हैं. अप्रैल 2018 में सजा पाने के बाद लूला पहली बार जेल से बाहर होंगे. लूला को 2018 में भ्रष्टाचार के आरोपों में 12 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी. उनका मानना है कि उनकी सजा राजनीति से प्रेरित थी.

भारत को सौंपने से पहले पाक ने अभिनंदन का वीडियो बनाया, इतने ‘कट’ लगाए कि झूठ पकड़ा गया