नई दिल्ली: पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस से ग्रस्त है. इस महामारी से अब तक लाखों लोग संक्रमित हो चुके हैं वहीं 80 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत भी हो चुकी है. लेकिन इन सब के बीच बहुत लोगों ने कोरोना से जंग में जीत भी हासिल की है. इसी सिलसिले में अब ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन का नाम सामने आ रहा है. हाल ही में 55 वर्षीय इस पीएम को कोरोना पॉजिटिव पाया गया मगर अब डॉक्टर्स के मुताबिक बोरिस इस जंग में सफल होते दिख रहे है. प्रधानमंत्री बोरिस के सुधरते हालत को देखते हुए लोगों ने उन्हें ‘फाइटर’ जैसे  उपसर्ग से सम्मानित किया. Also Read - महाराष्‍ट्र में कोरोना से आज 85 मौतें के साथ अब तक करीब 2000 मृत, कुल 60 हजार पॉजिटिव केस

प्रारंभिक आशंकाओं के बावजूद, लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल के डॉक्टरों ने फैसला किया कि उन्हें अब वेंटिलेटर पर रखने और उन्हें बेहोश करने की कोई आवश्यकता नहीं है. कई प्रकार के टेस्ट्स  होने के बाद यह पता चला कि उन्हें अब निमोनिया नहीं है लेकिन उनके डॉक्टर ने उन्हें आईसीयू में “करीबी निगरानी के लिए” रखा है. Also Read - ICC Meeting: टी20 विश्‍व कप 2020 के भविष्‍य को लेकर फैसला 10 जून तक स्‍थगित

एक रिपोर्ट के मुताबिक यह पता चला कि पीएम बोरिस का तापमान भी कम हो गया है और वो अब कोरोना को मात देकर जल्द ही नार्मल हो सकते हैं. बताया जा रहा है कि फिलहाल पीएम को बाहरी दुनिया से दूर रखा जा रहा है. Also Read - दिल्‍ली एम्स में अभी तक 195 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, 2 की जान गई

बता दें कि बीते दिनों पीएम बोरिस की पत्नी कैरी में भी कोरोना के लक्ष्ण दिखे थे. इस कारण उन्होंने खुद को डाउनस्ट्रीट से कही अलग आइसोलेट कर लिया था. इस बारे में कैरी ने ट्वीट कर लिखा कि मैं बीते एक हफ्ते से बिस्तर पर हूं, मुझमें कोरोना के लक्ष्ण थें. कोरोना वायरस की जांच कराने की मुझे जरूरत नहीं पड़ी औऱ सात दिन के आराम के बाद अब में मजबूत महसूस करने लगी हूं. मेरी हालत में काफी सुधार है.