पेरिस: ऑस्ट्रेलिया के दक्षिण पश्चिम के जंगलों में लगी आग की भूमिका वर्ष 2020 में कार्बन उत्सर्जन के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने में सबसे अहम होगी. पर्यावरण में कार्बन का स्तर पहले ही आठ लाख साल में सबसे अधिक है और इसके तीस लाख साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचने का अनुमान है. ब्रिटेन के मौसम कार्यालय ने शुक्रवार को यह दावा किया. Also Read - कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी भीषण आग, 34 लाख एकड़ जमीन जली

मौसम विभाग ने कहा कि धरती को गर्म करने के लिए जिम्मेदार कार्बन डाइ ऑक्साइड (सीओ-2) के उत्सर्जन को वर्ष 1958 से दर्ज किया जा रहा है और अनुमान है कि इस वर्ष सीओ्-2 का सबसे अधिक उत्सर्जन होगा. Also Read - इंग्लैंड के खिलाफ मैच में शतक जड़ ग्लेन मैक्सवेल ने तोड़ा बटलर का रिकॉर्ड

ब्रिटिश संस्था ने बताया कि सीओ-2 के स्तर को हवाई स्थित माउना लोआ वेधशाला के आंकड़ों के आधार पर नापा जाता है और पूरे साल मौसम के अनुरूप उत्तरी गोलार्ध में इसके स्तर में उतार-चढ़ाव आता है लेकिन इस साल कार्बन उत्सर्जन की वार्षिक परिपाटी ऊपर की ओर ही जा रही है और मई में इसके रिकॉर्ड 417 पार्ट्स प्रति दस लाख (पीपीएम) के स्तर पर पहुंचने की आशंका है. Also Read - इंग्लैंड के खिलाफ जीत के नायक रहे मैक्सवेल ने कहा- खोने के लिए कुछ नहीं बचा था

मौसम विभाग ने बताया, अनुमान है कि 2020 पहला साल होगा जब कार्बन का उत्सर्जन 410 पीपीएम के स्तर से नीचे नहीं आएगा और वार्षिक औसत 414.2 पीपीएम रहने की आशंका है.

मौसम कार्यालय हेडले सेंट और यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सटर के रिचर्ड बेट्टस ने बताया कि आठ लाख साल में पहली बार पर्यावरण में कार्बन का स्तर सबसे अधिक है और इसके 30 लाख साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचने की आशंका है.