वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प चीन और रूस पर अक्सर उनके देश की गतिविधियों में दखल का आरोप लगाते रहते हैं. हाल ही में अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने भी अपनी रिपोर्ट में आरोप लगाया है  कि चीन और रूस राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फोन पर होने वाली बातचीत सुनते हैं. अमेरिकी मीडिया के हवाले से इस बाबत खबर छपने के बाद अभी तक व्हाइट हाउस ने इस रिपोर्ट पर कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की है.

सीएनएन को भेजी गई विस्फोटक सामग्री, ट्रम्प पर गैर जिम्मेदाराना रवैये का आरोप

आईफोन का इस्तेमाल नहीं बंद कर रहे ट्रम्प
अमेरिका के प्रमुख अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने अमेरिका के मौजूदा और पूर्व अधिकारियों के नाम का खुलासा किए बगैर कहा, ‘‘चीन के जासूस अक्सर फोन पर होने वाली इन बातचीत को सुनते हैं और इसका इस्तेमाल ट्रंप के कामकाज को बेहतर तरीके से समझने और प्रशासन की नीतियों को प्रभावित करने के लिए करते हैं.’’

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक ट्रंप अपने दोस्तों से बातचीत करने के लिए आईफोन का इस्तेमाल करते हैं. बार-बार अधिकारियों के आग्रह के बाद भी वह आईफोन का इस्तेमाल बंद नहीं कर रहे. राष्ट्रपति से कई बार कहा जा चुका है कि वह ज्यादा सुरक्षित लैंडलाइन फोन का इस्तेमाल करें.

म्यामां में रोहिंग्या अब भी हो रहे हैं नरसंहार के शिकार: UN रिपोर्ट

खबर के मुताबिक, ‘अमेरिकी खुफिया एजेंसियों को पता चला था कि चीन और रूस विदेशी सरकारों में अपने इंसानी सूत्रों के जरिए राष्ट्रपति की फोन पर होने वाली बातचीत को सुन रहे थे और विदेशी अधिकारियों के बीच होने वाली बातचीत को भी सुन रहे थे. व्हाइट हाउस ने इस रिपोर्ट पर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की है. (इनपुट एजेंसी)