वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया है कि रूस के साथ-साथ चीन ने भी 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में दखलंदाजी की. इससे पहले भी गत माह न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए ट्रंप ने ऐसे ही आरोप लगाए थे. Also Read - Year Ender 2018: 'भारत-अमेरिका' नई उंचाइयों पर पहुंचे संबंध, ऐतिहासिक रहा ये साल

Also Read - सऊदी अरब स्वीकार कर सकता है कि पूछताछ के दौरान खशोगी की मौत हुई: मीडिया रिपोर्ट

अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वार की आशंका, व्यापार समझौते पर बात करना चाहते हैं ट्रंप Also Read - 'शैतान हत्यारों' ने पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की होगी: ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति का कहना है कि चीन 2018 के मध्यावधि चुनावों में दखलंदाजी की कोशिश कर रहा है और वह उन्हें राष्ट्रपति पद पर नहीं देखना चाहता. बहरहाल, अमेरिकी राष्ट्रपति के इन आरोपों को चीन ने सिरे से ख़ारिज कर दिया है. ट्रंप ने पहली बार सार्वजनिक तौर पर कहा है कि चीन ने 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में दखल दिया.

खागोशी मामला: सऊदी अरब के साथ हथियार समझौता रद्द करने के खिलाफ हैं ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति ने सीबीएस न्यूज के लोकप्रिय शो ‘60 मिनट्स’ में कहा, ‘उन्होंने (रूस ने) दखलंदाजी की. लेकिन मेरा मानना है कि चीन ने भी दखलंदाजी की.’ गुरूवार को रिकॉर्ड किया गया यह इंटरव्यू रविवार की रात को प्रसारित किया गया.

ट्रंप ने कहा, ‘मेरा मानना है कि चीन ने भी दखलंदाजी की. और मैं समझता हूं कि चीन बड़ी समस्या है.’ उन्होंने यह भी कहा कि वह रूस वाले पहलू से ध्यान भटकाने की कोशिश नहीं कर रहे. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘मैं रूस कह रहा हूं, लेकिन मैं चीन भी कह रहा हूं.’ ट्रंप ने इस बात पर निराशा जताई कि उनके अटॉर्नी जनरल जेफ सेशंस ने रूस मामले की जांच से खुद को अलग कर लिया. (इनपुट एजेंसी)