नई दिल्लीः कजाखिस्तान में इन दिनों एक जानलेवा बीमारी फैल रही है, जिसे लेकर चीन काफी चिंता में है. चीन ने कजाखिस्तान में रहने वाले अपने नागरिकों को कोरोना वायरस के संक्रमण से भी खतरनाक इस बीमारी को लेकर सावधान भी किया है. कजाखिस्तान में चीनी दूतावास ने वीचैट प्लेटफॉर्म पर एक बयान जारी करते हुए अपने नागरिकों को इस बीमारी की जानकारी दी है. बयान में चीनी दूतावास ने कहा है- ‘कजाखिस्तान में अज्ञात निमोनिया से साल के शुरुआती 6 महीनों में 1,772 लोगों की जान जा चुकी है. जिसमें से 628 लोग जून में ही जान गंवा चुके हैं. मरने वालों में चीनी नागरिक भी शामिल हैं.’ Also Read - Schools Reopen in India from September, Fact Check कोरोना संकट के बीच क्या खुलने जा रहे हैं स्कूल..?, यहां जानें सच्चाई

ग्लोबल टाइम्स ने शुक्रवार को दूतावास के बयान के हवाले से कहा- ‘यह बीमारी कोरोना वायरस की तुलना में मरने वालों का खतरा कहीं अधिक है. कजाखिस्तान के स्वास्थ्य विभाग सहित कई संगठन इस अज्ञात निमोनिया के अध्ययन में जुटे हैं.’ बता दें कजाखिस्तान में निमोनिया से मरने वालों की संख्या कोरोना वायरस से मरने वालों की तुलना में 6 गुना अधिक है. कजाखिस्तान में कोरोना वायरस के अभी तक 54,747 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 264 लोगों की मौत हुई है. Also Read - तमिलनाडु: सार्वजनिक स्थानों पर भगवान गणेश मूर्तियों की स्थापना की अनुमति नहीं, ये है वजह

ऐसे में चीन ने कजाखिस्तान में रहने वाले अपने नागरिकों को इस बीमारी से आगाह किया है और कहा कि यह बीमारी कोरोना संक्रमण से भी अधिक खतरनाक है, ऐसे में लोगों को बहुत अधिक सावधान रहने की जरूरत है. हालांकि, अभी तक इस बात की जानकारी सामने नहीं आई है कि इसका संबंध किसी तरह से कोरोना से है या नहीं. रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह बीमारी बैक्टीरिया, फंगस और वायरस के साथ ही कई अनजान स्त्रोतों की वजह से फैल रही है. जिसका अभी तक पता नहीं चल पाया है. Also Read - कोरोना से दिल्ली में अब तक डेढ़ लाख संक्रमित, मृतकों का आंकड़ा 4 हज़ार पार