बीजिंग: ऐतिहासिक करतारपुर गलियारे के उद्घाटन का स्वागत करते हुए चीन ने सोमवार को उम्मीद जताई कि भारत और पाकिस्तान दोनों बातचीत के जरिए अपने मतभेदों को सुलझाने के लिए ‘‘सद्भावना प्रदर्शित करना जारी रख सकते हैं.’’ भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे ने शनिवार को ऐतिहासिक गलियारे से पाकिस्तान में प्रवेश किया. इस गलियारे को सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती से पहले खोला गया है.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने यहां मीडिया से कहा, ‘‘हम भारत और पाकिस्तान के बीच इस तरह के अच्छे संवाद का स्वागत करते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘दोनों देश दक्षिण एशिया में महत्वपूर्ण हैं और दोनों का शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व दोनों के मौलिक हितों और दुनिया की साझा आकांक्षा को पूरा करता है.’’

उन्होंने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि दोनों पक्ष बातचीत के माध्यम से मतभेदों को ठीक से सुलझाते हुए और अपने संबंधों में सुधार तथा क्षेत्रीय शांति स्थिरता को संयुक्त रूप से सुरक्षित रखते हुए सद्भाव की उसी दिशा में आगे बढ़ सकते हैं.

(इनपुट भाषा)