नई दिल्ली: चीन ने एक ऐसा काम किया है, जिसे सुनकर भारत के लोगों को खुशी तो पाकिस्‍तान को मिर्ची लग सकती है. चीन ने पहली बार पाक अधिकृत कश्मीर को भारत के जम्‍मू-कश्‍मीर वाले वास्‍तविक नक्‍शे जैसा दिखाया है. जैसा कि भारत सालों से मांग कर रहा था.

टाइम्‍स नाऊ की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के सरकारी टेलीविजन चैनल सीजीटीएन ने शुक्रवार को पाकिस्‍तान में चीनी दूतावास में आतंकी हमले की रिपोर्ट दिखाई थी. इस दौरान चैनल ने पीओके को जम्मू-कश्मीर में भारतीय राज्य के रूप में दिखाया था. हालांकि अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं हो सका है कि चीन सरकार की ओर से यह कदम सोच-विचार उठाया गया था, या फिर अनजाने में उक्‍त नक्‍शे को चैनल पर दिखा दिया गया. वैसे देखा जाए तो यह घटना पूरे जम्‍मू-कश्‍मीर को भारत का हिस्‍सा दिखाए जाने की वजह चीन-पाकिस्‍तान इकॉनोमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) भी हो सकता है.

आज करतारपुर कॉरिडोर की नींव रखेंगे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान

चीन ने पीओके में किया है भारी निवेश
बता दें कि चीन ने भारत को परेशान करने के लिए बीआरआई के शुरू होने से पहले ही पीओके में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स पर भारी निवेश किया था. इसके अलावा चीन पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) जैसी संयुक्त परियोजनाओं पर काम कर रहा है. भारत ने सीपीईसी का विरोध किया है, क्‍योंकि यह भारत की संप्रभुता का उल्लंघन करता है.

ट्रंप ने कहा- मुंबई आतंकवादी हमले में न्याय पाने की भारत की इच्छा के साथ खड़ा है अमेरिका

बता दें कि चीन के सरकारी टीवी चैनल सीजीटीएन को आमतौर पर सीसीटीवी-9 और सीसीटीवी न्यूज के नाम पर जाना जाता है. चीन के वैश्विक टेलीविजन नेटवर्क का मुख्यालय बीजिंग में है. चैनल को सितंबर 2000 में लॉन्च किया गया था. भारत ने वैश्विक मंचों पर भारतीय क्षेत्र के एक हिस्से के रूप में जम्मू-कश्मीर के प्रतिनिधित्व के लिए वकालत की है. हालांकि, चीन पाकिस्तान के हिस्से के रूप में पीओके का दर्शाता रहता है.