नई दिल्ली : चीन (China) में कोरोना वायरस (Coronavirus) अब तक 636 लोगों की जान ले चुका है और मौतों का सिलसिला अभी भी जारी है, क्योंकि 31 हजार से अधिक लोग अभी भी इस घातक वायरस की चपेट में हैं. ऐसे में इस संक्रमण ने उस डॉक्टर की भी जान ले ली है, जिसने दुनिया को इस घातक वायरस से सबसे पहले आगाह किया था. दुनिया को सबसे पहले कोरोना वायरस के बारे में बताने वाले चीनी डॉक्टर ली वेनलियान्ग की गुरुवार को कोरोना वायरस की वजह से मौत हो गई. चीन के एक सरकारी अखबार के मुताबिक गुरुवार को डॉक्टर ली वेनलियान्ग की कोरोना वायरस के चलते मौत हो गई.

आपको बता दें कि, चीन के वुहान (Wuhan) शहर में इस वायरस ने सबसे पहले हमला किया था, जिसके बाद लगातार इस खबर को दुनिया से छिपाने की कोशिश की जा रही थी. ऐसे में एक डॉक्टर होने के नाते अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए डॉक्टर ली वेनलियान्ग ने अस्पताल से एक वीडियो पोस्ट कर दुनिया को कोरोना वायरस को लेकर चेताया था.

इस वीडियो के सामने आने के बाद 34 वर्षीय डॉक्टर ली वेनलियांग से चीन के स्थानीय स्वास्थ्य विभाग ने पूछताछ भी की थी. वहीं वुहान पुलिस (Wuhan Police) ने डॉक्टर ली वेनलियान्ग को सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने का आरोपी बनाते हुए नोटिस भी जारी किया था. जिसके बाद डॉक्टर से कई बार पूछताछ भी की गई.

वहीं डॉक्टर को कोरोना वायरस के चपेट में आने के बाद 12 जनवरी को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा. मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर ली वेनलियान्ग एक मरीज के संपर्क में आने के बाद कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे, जिसके बाद काफी समय तक चले इलाज के बाद 6 फरवरी को उनकी मौत हो गई.