Coronavirus disease 2019: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping ) ने कोरोना महामारी (COVID-19 Pandemic) से निपटने के लिए भारत की मदद करने की पेशकश की है. शुक्रवार को वहां की मीडिया में ये जानकारी गई. राष्ट्रपति जिनपिंग ने कोविड-19 से उपजे हालात पर पीएम मोदी (PM Modi) के प्रति संवेदनाएं भी व्यक्त की. स्टेट टेलीविजन में चीनी राष्ट्रपति के हवाले से बताया गया- चीन कोविड-19 से लड़ने के लिए भारत के साथ सहयोग बढ़ाने और सहायता देने को तैयार है.Also Read - Monkeypox Disease: यौन संबंध बनाने से भी फैल सकता है 'मंकीपॉक्स' वायरस, विशेषज्ञों ने चेताया

इससे पहले चीन के विदेश वांग यी ने गुरुवार कहा कि कोरोना जंग में उनका देश भारत की हर संभव मदद करेगा. उन्होंने कहा कि चीन में बनी महामारी रोधी सामग्री ज्यादा तेज गति से भारत पहुंचाई जा रही हैं. विदेश मंत्री एस जयशंकर को लिखे पत्र में वांग ने कहा चीनी पक्ष ‘भारत जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उनके प्रति संवेदना रखता है और गहरी सहानुभूति प्रकट करता है.’ Also Read - युवा शिविर में बोले पीएम मोदी, भारत आज दुनिया की नई उम्मीद बनकर उभरा है

भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदोंग ने इस पत्र को ट्विटर पर साझा किया जिसमें लिखा है, ‘कोरोना वायरस मानवता का साझा दुश्मन है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एकजुट और समन्वयित होकर इसका मुकाबला करने की जरूरत है. चीनी पक्ष भारत सरकार और वहां के लोगों का महामारी से लड़ाई में समर्थन करता है.’ वांग ने कहा कि चीन में उत्पादित महामारी रोधी वस्तुएं तेजी से भारत में पहुंचाई जा रही हैं ताकि भारत की इस महामारी में मदद की जा सके’ Also Read - दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के करीब 400 नए केस, दो लोगों की गई जान

उन्होंने कहा, ‘चीनी पक्ष भारत की जरूरत के अनुरूप यथासंभव समर्थन और मदद पहुंचाना जारी रखेगा. हमें उम्मीद और भरोसा है कि भारत सरकार के नेतृत्व के अंतर्गत लोग यथा शीघ्र इस महामारी पर काबू पा लेंगे.’

वांग का पत्र ऐसे समय आया है जब दोनों देशों की सेनाओं की पूर्वी लद्दाख के बाकी बचे तनाव वाले इलाके से वापसी होनी बाकी है. दोनों देशों की सेना फरवरी में पैगोंग झील के इलाके से पीछे हटी थीं. (भाषा इनपुट)