जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित

थनबर्ग (17) ने छात्रों के स्कूल छोड़कर जलवायु परिवर्तन पर तेजी से कार्रवाई करने की मांग वाले प्रदर्शनों में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया है.

Updated: February 3, 2020 6:30 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Amit Kumar

जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित
जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग /Source: PTI

कोपेनहेग: स्वीडन के दो सांसदों ने अपने देश की किशोरी जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को 2020 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया है. स्वीडन की लेफ्ट पार्टी के जेन्स होम और हाकन स्वेनेलिंग ने सोमवार को कहा कि थनबर्ग ने ‘‘जलवायु संकट पर नेताओं का ध्यान खींचने के लिए कड़ी मेहनत की है’’ और उत्सर्जन में कटौती के लिए कार्य तथा पेरिस समझौते के अनुपालन के लिए काम करना भी शांति के लिए काम करना है.’’

Also Read:

2015 के ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते में धनी और गरीब दोनों तरह के देशों से वैश्विक तापमान में कमी लाने वाले उपाय करने को कहा गया है. थनबर्ग (17) ने छात्रों के स्कूल छोड़कर जलवायु परिवर्तन पर तेजी से कार्रवाई करने की मांग वाले प्रदर्शनों में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया है.

कोई भी सांसद किसी को भी नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित कर सकता है और नॉर्वे की संसद के तीन सदस्यों ने पिछले वर्ष थनबर्ग को नामांकित किया था.

(इनपुट भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें विदेश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: February 3, 2020 6:29 PM IST

Updated Date: February 3, 2020 6:30 PM IST